सर्च इंजन गूगल ने आज यानी 9 जनवरी को खास डूडल बनाया है। Google ने पहली महिला शिक्षिका फातिमा शेख को उनके 191 जन्मदिन पर डूडल बनाकर याद किया है ।

फातिमा शेख का जन्म 9 जनवरी 1831 को पुणे में हुआ था । वह अपने भाई उस्मान के साथ रहती थीं ।

फातिमा शेख ने समाज सुधारक ज्योति बा फुले और सावित्री बाई फुले के साथ मिलकर 1848 में स्वदेशी पुस्तकालय की शुरुआत की थी, यह देश में लड़कियों का पहला स्कूल माना जाता है।

वह अपने भाई उस्मान के साथ रहती थीं। जब फूले दंपती को दलित व गरीबों को शिक्षा देने के विरोध में  उनके पिता ने घर से निकाल दिया था तो उस्मान शेख व फातिमा ने उन्हें शरण दी थी।

फातिमा बच्चों को अपने घर में पढ़ने बुलाने के लिए घर-घर जाती थीं।

उनके पिता ने घर से निकाल दिया था तो उस्मान शेख व फातिमा ने उन्हें शरण दी थी ।

भारत सरकार ने 2014 में अन्य अग्रणी भारतीय शिक्षकों के साथ-साथ उर्दू पाठ्यपुस्तकों में उनकी प्रोफ़ाइल को प्रदर्शित करके उनकी उपलब्धियों पर नई रोशनी डाली ।

पुणे के इसी स्कूल में उन लोगों को शिक्षा देने का महायज्ञ शुरू हुआ था, जिन्में जाति, धर्म व लिंग के आधार पर उस वक्त शिक्षा से वंचित रखा जाता था। 

वह चाहती थीं कि भारतीय जाति व्यवस्था की बाधा पार कर वंचित तबके के बच्चे पुस्तकालय में आएं और पढ़ें ।

और अधिक जानकारी के लिए नीचे क्लिक करें ।

इस तरह की और भी जानकारी के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े