HomeTechnologyeSIM क्या है और कैसे काम करता है?

eSIM क्या है और कैसे काम करता है?

eSIM क्या है: eSIM का पूरा नाम Embedded Subscriber Identity Module होता हैI ई-सिम मोबाइल फोन में लगने वाला वर्चुअल सिम होता है। यह एक फिजिकल सिम कार्ड की तरह नहीं होता है। हालांकि सुविधाएं उससे कम नहीं होतीं। अगर आप एक ई-सिम खरीदते हैं तो फोन और मैसेज समेत, सभी काम कर पाएंगे, लेकिन आपको इसे फोन में नहीं डालना होगा। इसे टेलीकॉम कंपनी के जरिए ओवर-द-एयर (OTA) एक्टिवेट करती है।

eSIM क्या है

ई-सिम के जरिए फिजिकल सिम के सभी सर्विस का फायदा लिया जा सकता है। यह एक तरह का चिप होता है जो सिम कार्ड की तरह ही काम करता है।

eSIM क्या है (What is eSIM in Hindi)

ई-सिम, फोन में या किसी डिवाइस में पहले से ही इंस्टॉल्ड रहते हैं मतलब ई-सिम को आप निकाल नहीं सकते। साथ ही इसे आप सभी डिवाइस में नहीं लगा सकते। सिम को टेलीकॉम कंपनियां एक्टिव करती हैं। इसकी खासियत यह है कि ऑपरेटर बदलने पर आपको सिम कार्ड नहीं बदलना पड़ता है। इसके अलावा स्मार्टफोन में सिम कार्ड स्लॉट की भी जरूरत नहीं होती है।

कोई सब्सक्राइबर यदि अपना टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर मतलब सिम बदलकर दूसरी सिम खरीदना चाहता है। तो इसके लिए दूसरी सिम नहीं खरीदनी होगी बल्कि उसके मोबाइल फोन में इंबेडेड सब्सक्राइबर आइडेंटिटी मॉड्यूल (eSIM) डाल दी जाएगी और ई-सिम को अपडेट कर दिया जाएगा।

मई 2018 में भारत सरकार ने ई-सिम को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए थे। सरकार के निर्देश मुताबिक, हरेक मोबाइल यूजर अधिकतम 18 सिम का इस्तेमाल कर सकता है। जिसमें मोबाइल फोन के लिए नौ सिम और 9 मशीन-टू-मशीन सिम मिलाकर कुल 18 सिम के इस्तेमाल की इजाजत दी है। मतलब एक यूजर को अधिकतम 18 सिम कार्ड ही इश्यू किया जा सकता है।

eSIM से होने वाले फायदे

ई-सिम इस्तेमाल करने से आपकी स्मार्टफोन बैटरी लाइफ बढ़ जाएगी। सॉफ्टवेयर के जरिए काम करने वाले ई-सिम में फिजिकल सिम की अपेक्षा में स्मार्टफोन के बैटरी की खपत कम होगी। भारत में फिलहाल एयरटेल और जियो के पास ही ई-सिम उपलब्ध है।

  • eSIM से हमे कई फायदे हैं,उनमें सबसे पहला फायदा यह है कि इसकी मदद से हम किसी भी नेटवर्क पर बड़ी ही आसानी से स्विच कर सकते हैं और इसके लिए हमे सिम कार्ड पोर्ट करवा कर नई सिम कार्ड लेने की जरूरत नहीं होती है।
  • दूसरा फायदा यह है कि जब भी हमारा मोबाइल चोरी होता है तो अक्सर चोर सिम कार्ड को मोबाइल फ़ोन से निकाल देते है। ऐसे में मोबाइल फोन वापस मिलने के चान्सेस बहुत ही कम हो जाते हैं लेकिन eSIM कार्ड को मोबाइल फोन से निकाला नही जा सकता है जिसकी वजह से चोरी होने या गुमने की स्थिति में भी हमारा मोबाइल वापस मिल सकता है।
  • तीसरा सबसे बड़ा फायदा यह है कि eSIM में नेटवर्क सिग्नल कॉफी स्ट्रांग होता है। जिसकी वजह से नेटवर्क समस्या बहुत ही कम देखने को मिलती है। ऐसे में हमे कॉल और इंटरनेट का यूज़ करते समय बार बार नेटवर्क चले जाने की समस्या से छुटकारा मिल जाता है।
  • चौथा फायदा यह होता है कि eSIM होने की वजह से मोबाइल फोन में सिम पोर्ट या ट्रे नही मिलता है। जिसके कारण मोबाइल फोन काफी स्लिम और स्टाइलिश लगता है।
  • पाँचवा और सबसे बड़ा फायदा यह है कि eSIM होने की वजह से हमे सिम कार्ड के खोने या खराब हो जाने के झंझट से पूरी तरह छुटकारा मिल जाता है।
  • eSim का सबसे बड़ा फायदा है कि अगर आप अपनी सिम कंपनी (टेलीकॉम ऑपरेटर) बदलते हैं तो आपको सिम कार्ड नहीं बदलना होगा। इसके साथ ही फोन टूट जाने या भीग जाने की स्थिति में यह सिम प्रभावित नहीं होता। कुल मिलाकर, इसके डैमेज होने का डर नहीं रहता।
  • हम बोल सकते है की आने वाले समय में लगभग सभी मोबाइल फोन में हमे eSIM की सुविधा  देखने को मिलने वाली है।
  • Best for Travllers :देश विदेश मे यात्रा करने वाले Trevallers के लिए eSim किसी वरदान से कम नहीं लिए l क्योकि यह Travllers को roming charges से बचाती है।
  • Network switching – eSim की मदद से सर्विस प्रोवाइडर बदलना काफी आसान होता हैl जैसे कि अगर आप एयरटेल के ग्राहक हैं और जिओ की सर्विस लेना चाहते हैं तो आप बिना अपना नंबर बदले और बिना सिम कार्ड पर ले जियो की सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं l

eSIM का नुकसान क्या है?

  • पसंद के मामले में उपभोक्ताओं को नुकसान हो सकता है। यदि कोई फोन विशेष रूप से बेचा जाता है, तो संभव है कि सभी हैंडसेट सभी के लिए खुले होने के बजाय किसी विशेष नेटवर्क के साथ पहले से लोड हो जाएं।
  • साथ ही, जब तक वे अपने नेटवर्क से संपर्क नहीं करते, लोग आसानी से eSIM के साथ फोन स्विच नहीं कर सकते। जाहिर है, यह ज्यादातर लोगों के लिए एक विचार नहीं है, लेकिन कुछ के लिए यह आपत्तिजनक होगा।
  • क्लाउड बैकअप के कारण एंड्रॉइड या आईओएस का उपयोग करने वाले अधिकांश लोगों के लिए सिम कार्ड पर नंबर संग्रहीत करने के दिन वैसे भी गिने जाते हैं, लेकिन इसमें पुराने या सस्ते फोन का उपयोग करने वालों के लिए मानसिकता में बदलाव शामिल है। अब आप सिम कार्ड को किसी नए फ़ोन में भौतिक रूप से स्वैप नहीं कर पाएंगे।

eSIM कैसे खरीद सकते हैं ?

यदि आप वोडाफोन आइडिया ग्राहक हैं तो Vi स्टोर से ईसिम ले सकते हैं। हालांकि कंपनी फिलहाल सिर्फ अपने पोस्टपेड ग्राहकों को ही यह सुविधा प्रदान कर रही है। इसके अतिरिक्त Vi अपने मुंबई, गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र और गोवा के उपभोक्ताओं को ही यह सुविधा दे रही है। यूजर्स को ई-सिम सपोर्ट वाला डिवाइस भी चाहिए होगा। यूजर्स Vi स्टोर जाकर अपना आईडी प्रूफ देकर और केवाईसी प्रक्रिया पूरी कर सिम ले सकते हैं।

वहीं जियो की बात करें तो उपभोक्ता नजदीकी स्टोर जाकर आवश्यक डॉक्यूमेंट्स दिखाकर ई-सिम कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। सभी आवश्यक स्पेट फॉलो करने के बाद यूजर्स को जियो स्टोर से ई-सिम कार्ड प्राप्त कर सकते हैं। एयरटेल ने भी अपने यूजर्स के लिए ई-सिम की सुविधा शुरू कर दी है।

यूजर्स को इसके लिए 121 पर eSIM (Space) रजिस्टर ईमेल आईडी लिखकर एसएमएस करना होगा। इसके बाद यूजर्स को कंफर्मेशन के लिए एक एसएमएस मिलेगा। यूजर्स को 60 सेकेंड के अंदर 1 टॉप करना होगा। इसके बाद आपको वॉइस कॉल के जरिए अपना कंफर्मेशन देना होगा। इसके बाद आपको रजिस्टर ईमेल आईडी पर क्यूआर कोड मिल जाएगा। इसके 2 घंटे बाद ई-सिम एक्टिवेट हो जाएगा।

ई-सिम कैसे एक्टिवेट करें

Activate Jio eSIM

For Apple iPhone models:

  • सबसे पहले ये सुनिश्चित करें कि आपका iOS वर्ज़न 12.1 या फिर इससे ज्यादा होना चाहिए।
  • अब फोन की सेटिंग्स में जाएं और EID व IMEI के लिए About phone पर क्लिक करें।
  • इसके बाद GETESIM लिखें <32 Digit EID> <15 Digit IMEI> को अपने आईफोन मॉडल से 199 पर भेजें।
  • अब आपको एक 19 डिजिट वाला eSIM नंबर और eSIM प्रोफाइल कॉन्फिग्रेशन डिटेल्स रिसीव होंगी।
  • अब SIMCHG <19 digits eSIM number> को 199 पर SMS करें।
  • दो घंटे बाद आपको eSIM प्रोसेसिंग का अपडेट प्राप्त होगा।
  • मैसेज प्राप्त होने के बाद 183 पर ‘1′ भेजकर इसे कंफर्म करें।
  • अब आपको आपके जियो नंबर पर एक ऑटोमेट कॉल आएगा, जिसमें आपसे 19 डिजिट वाला ईसिम नंबर मांगा जाएगा।
  • नए ई-सिम एक्टिवेशन की पुष्टि आपको SMS के जरिए की जाएगी।
  • अब ईसिम प्रोफाइल को आपने आईफोन में कॉन्फ़िगर करना होगा, जिसके लिए सेटिंग्स में जाकर Mobile Data पर क्लिक करें।
  • इसके बाद Add Data plan पर टैप करें और ईसिम प्रोफाइल कॉन्फिग्रेशन डिटेल्स में आए एक्टिवेशन कोड को यहां इंटर करें।
  • एक्टिवेशन कोड डालने के बाद ऊपरी दायीं ओर मौजूद Next पर क्लिक कर दें।
  • अब Add Data plan पर फिर टैप करें।
  • इसके बाद अपने अनुसार Data Plan लेबल्स को चुने और अपने देश को चुनें।
  • अब आपकी ई-सिम सफलतापूर्वक एक्टिवेट हो चुकी है।

For Samsung phones

सबसे पहले ऊपर बताए गए Steps 1 से लेकर Step 9 तक समान प्रक्रिया फॉलो करें। इसके बाद

  • सेटिंग्स में जाए और Connections पर टैप करें।
  • अब SIM card manager पर टैप करें।
  • अब Add mobile plan पर टैप करें।
  • Scan Carrier QR code को चुनें।
  • इसके बाद Enter कोड पर टैप करें।
  • Activation code को LPA:1$smdprd.jio.com$ फॉरमेट में एंटर करें, जिसके बाद आपको 32 डिजिट का एक्टिवेशन कोड SMS के जरिए प्राप्त होगा। अब आपको Connect  पर टैप करना है।
  • Jio eSIM अब एक्टिवेट हो चुकी है, जो कि आपको SIM card manager में दिखेगा।

For Google phones

सबसे पहले ऊपर बताए गए Steps 1 से लेकर Step 9 तक समान प्रक्रिया फॉलो करें:-

  • सेटिंग्स में जाए और Network & Internet पर टैप करें।
  • अब Mobile network को चुने और Download a SIM पर टैप करें।
  • इसके बाद Next पर क्लिक करें और मैनुअली एक्टिवेशन कोड डालें।
  • अब Enter it manually  पर क्लिक करें।
  • Activation code को LPA:1$smdprd.jio.com$ फॉरमेट में एंटर करें, जिसके बाद आपको 32 डिजिट का एक्टिवेशन कोड SMS के जरिए प्राप्त होगा।
  • अब Activate को चुने और Done पर टैप कर दें।
  • आपकी Jio eSIM अब एक्टिवेट हो चुकी है।

For Motorola phones

सबसे पहले ऊपर बताए गए Steps 1 से लेकर Step 9 तक समान प्रक्रिया फॉलो करें:-

  • Motorola Razr 5G के लिए Settings में जाए और Network & Internet को चुनें।
  • अब Mobile network को चुनें और Next पर क्लिक करें (Motorola Razr के लिए Mobile network पर टैप करके Select Advanced पर क्लिक करें और फिर Carrier पर टैप करें। इसके बाद Add Carrier पर क्लिक करें और फिर Next को चुनें।) 
  • अब Google Pixel फोन के लिए ऊपर बताए 3 से 7 स्टेप्स फॉलो करें।

FAQ

Q : ई सिम कार्ड क्या होता है?

Ans : सिम मोबाइल फोन में लगने वाला वर्चुअल सिम होता है। यह एक फिजिकल सिम कार्ड की तरह नहीं होता है। हालांकि सुविधाएं उससे कम नहीं होतीं।

Q : क्या सभी मोबाइल में eSIM चला सकते हैं?

Ans : eSIM चलाने के लिए आपके पास eSIM Support करने वाला मोबाइल फ़ोन होना जरुरी है।

Q : सिम कैसे काम करता है?

Ans : सिम कार्ड एक छोटासा इलेक्ट्रॉनिक चिप होता है। और इसे मोबाइल फोन में डालने के बाद यह मोबाइल के सिस्टम के साथ कनेक्ट हो जाता है।

निष्कर्ष

उम्मीद है की आपको पता चल गया होगा की ई सिम कार्ड क्या होता है तो अगर आपको ई सिम कार्ड के बारे में सभी जानकारी मिल गयी होती तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर से शेयर करें और कोई सवाल है तो निचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है ।

Naresh Kumar
Naresh Kumarhttps://howgyan.com
इनका नाम नरेश कुमार है और यह इस ब्लॉग के Founder है । वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है । इनको 2 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 4 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here