HomeFull FormCV Full Form in Hindi | सी.वी का फुल फॉर्म क्या है ?

CV Full Form in Hindi | सी.वी का फुल फॉर्म क्या है ?

हेलो दोस्तों, आज हम आपको  CV की फुल फॉर्म क्या है? साथ ही CV क्या होता है? इत्यादि से संबंधित सारी जानकारी से आपका परिचय कराएँगे। आइए देर ना करते हुए CV से संबंधित जानकारी को साझा करते हैं।

CV Full Form in Hindi

CV का फुल फॉर्म क्या है ?

CV की फुल फॉर्म अंग्रेजी में Curriculum Vitae होती है। जिसको हिंदी भाषा में बायोडाटा कहते हैं। इस document मे आपकी life से जुडी जरूरी जानकारी होती है। जिसमें आपकी personal information, educational qualification, college, all degree इत्यादि के बारे में important information होती है।

CV की जरूरत क्यों पड़ती है?

CV मे आपकी जरूरी information  होती है, वह भी short form मे। क्योंकि कंपनी जब भी अपने स्टाफ रखती है, तो उनसे सबसे पहले  biodata /CV मांगा जाता है। Companyके पास इतना समय नहीं होता है, कि आपकी degree, marksheet इत्यादि को विस्तार से देखें।उनकी दिलचस्पी आपके skills से होती है।

 आपने भी अक्सर देखा होगा कि जब भी company कोई recruitment निकालती है, तो सबसे पहले आपका CV मांगती है।

CV का format कैसे बनाते हैं?

CV का format बहुत आसानी से बनाया जा सकता है। लेकिन आपको यह ध्यान रखना है, कि CV मे केवल महत्वपूर्ण बातें हो। साथ ही CV simple और to the point होना चाहिए। आइए जानते हैं, आपके बायोडाटा में ओर क्या क्या होना चाहिए।

  •  Career objective : इसमें आप अपने कैरियर के बारे में जानकारी दे सकते हैं। आप किस फील्ड में जाना चाहते हैं। क्या unique करना चाहते हैं। यानी सबसे important information इसमें लिखनी होती है।
  •  Qualification : इसके अंदर आप education life से जुड़ी जानकारी देंगे। जिसमें  आपने अब तक किया क्या है? सभी degrees के बारे में जानकारी इसमें दी जानी चाहिए।
  •  Experience : अगर आपने पहले कहीं पर work किया है, तो  work experience बताना बहुत अच्छा रहता है। कंपनी experienced candidates  को priority देती है।लेकिन यदि आप  fresher है, तो इस कॉलम को छोड़ सकते हैं।
  •  Skill: आजकल कंपनियां degree की अपेक्षा skill को ज्यादा महत्व देती हैं। क्योंकि skills ही, आज की चुनौतियों में  company की मदद कर सकता है।
  • Achievement : यदि आपने degree के अलावा कुछ और भी achive किया है। जो कि कंपनी के लिए लाभदायक हो सकता है। जैसेकि awards, honor  इत्यादि।
  •  पसंद ना पसंद : आप company को अपनी पसंद और नापसंद बता सकते है। जिससे company judge कर सकती है, कि आप कैसे बन्दे है। आपमें company skills है या नहीं।

CV मे कौन सी बातें शामिल नहीं होनी चाहिए?

 एक अच्छे CV मे आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए  नीचे दी गई जानकारी में जानते हैं।

  •  आपकी जानकारी के लिए बता दें कि CV मे आपको family background या family member की डिटेल्स बिल्कुल नहीं देनी है। इसमें आप  अपना नाम, father’s name, mother’s name दे सकते हैं।
  • CV मे आपको यह बिल्कुल नहीं बताना चाहिए, अगर आपने पहले कहीं पर work किया है, तो वहां आप कितनी सैलरी प्राप्त करते थे। अगर interview के दौरान पूछे, तब आप बता सकते हैं।
  •  इसके अलावा CV मे आपको यह भी नहीं लिखना है कि आपने पहले job क्यों छोड़ी थी। इससे आपके बायोडाटा पर wrong impact पड़ता है।

CV संक्षिप्त रूप के अन्य फुल फॉर्म

  • CV (Roman numeral for 105)
  • Chuvash
  • Cape Verde
  • Coefficient of Variation
  • Commercial Vehicle
  • Cape Verde (TLD)
  • Control Voltage
  • Convair
  • Calorific Value
  • Check Valve
  • Composite Video
  • CardioVascular
  • Convertible
  • Cross Validation
  • Current Value
  • Critical Value
  • Constant Velocity
  • Computer Virus
  • Control Voltage
  • Computer Video
  • Crown Victoria

ये भी पढ़े:-

CTO का फुल फॉर्मDSLR Full Form
RTO की फुल फॉर्मACP Full Form

FAQ

Q : CV का फुल फॉर्म क्या है?

Ans : CV की फुल फॉर्म अंग्रेजी में Curriculum Vitae होती है। जिसको हिंदी भाषा में बायोडाटा कहते हैं।

Q : CV क्या होता है ?

Ans : किसी व्यक्ति के बारे में उसकी व्यक्तिगत जानकारी, योग्यता, करियर और उसकी शैक्षिक योग्यता की जानकारी प्रदान करने वाला लिखित प्रारूप है, इसके जरिए आपके जीवन की उपलब्धियों को संक्षिप्त में स्टेप बाय स्टेप बताया जाता है।

अंतिम शब्द

उम्मीद है की आपको CV की फुल फॉर्म के बारे में पता चल गया होगा और अगर आपको CV के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल गयी होगी तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और कोई सवाल है तो निचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है ।

Naresh Kumar
Naresh Kumarhttps://howgyan.com
इनका नाम नरेश कुमार है और यह इस ब्लॉग के Founder है । वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है । इनको 2 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 4 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here