HomeFull FormCTO Full Form in Hindi | CTO का फुल फॉर्म क्या होता है ?

CTO Full Form in Hindi | CTO का फुल फॉर्म क्या होता है ?

क्या आपने CTO का नाम सुना है? अगर सुना है, तो क्या आप CTO के बारे में जानते हैं? अगर नहीं सुना है? कोई बात नहीं, आज की पोस्ट में हम आपको  CTO के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं।

CTO Full Form in Hindi | CTO का काम – फुल फॉर्म हिंदी में

CTO का पूरा नाम chief Technology officer है। जिसको हिंदी में मुख्य तकनीकी अधिकारी कहते हैं। किसी कंपनी के सभी technical decision लेने में CTO की मुख्य भूमिका होती है।

CTO Full Form in Hindi

इसका काम कंपनी में तकनीकी और वैज्ञानिक मुद्दों से निपटना है। Company के अंदर विभिन्न तकनीकी और अनुसंधान से संबंधित काम करने हेतु CTO बड़ा महत्वपूर्ण होता है।वह technical decision लेने में कंपनी का leader होता है।

CTO का काम क्या होता है

सीटीओ के बहुत सारे काम होते हैं। वह company मे Technology से संबंधित सारे काम करता है। आइए उसके द्वारा किए जाने वाले महत्वपूर्ण कामों को देखते हैं।

  •  Company की बौद्धिक संपदा पर CTO अपनी नजर रखता है। जिसकी वजह से उस पर बहुत सारी जिम्मेदारी होती हैं। क्योंकि किसी भी company का बेहतर प्रदर्शन, उसकी अच्छी Technology पर निर्भर होता है। इस वजह से  CTO कंपनी मे technological backbone होता है।
  • CTO technical योजनाएं बनाता है। जिस पर कंपनी को अपने काम करना चाहिए। क्योंकि बेहतर strategy और technical support से ही कोई कंपनी आगे जा सकती है।
  •  कंपनी की सुरक्षा, रखरखाव, data network  और technical roadmap तैयार करने का काम भी CTO करता है। CTO की वजह से ही कंपनी बहुत अच्छे से काम कर पाती है।
  • CTO ग्राहकों और industrial दोनों के बीच सेतु का काम करता है। जिससे  तकनीक पर आधारित नीतिओं का निर्माण किया जा सके। सीटीओ कंपनी मे बड़ा अहम रोल निभाता है। जिसके बिना कंपनी survive नहीं कर सकती है।
  •  सीटीओ के द्वारा कंपनी के बोर्ड और सीईओ के सामने तकनीकी मुद्दों पर अपनी राय रखी जाती है। जिसके बाद final decision CTO का ही होता है। इस वजह से सीटीओ कंपनी के सीईओ और बोर्ड के साथ काम करता है।
  • CTO की वजह से ही कंपनी बेहतर तालमेल के साथ काम कर पाती है। क्योंकि टेक्नोलॉजी का जमाना है। बिना टेक्नोलॉजी के आप काम ही नहीं कर सकते  है। CTO तकनीकी टीम का लीडर होता है।

CTO के लिए क्या कौशल की आवश्यकता होती है

 सीटीओ क्योंकि प्रौद्योगिकी विशेषज्ञ होता है इसलिए उसको technical education करनी जरूरी होती है। जिससे उसकी technical ability  बहुत ज्यादा अच्छी हो। Company  के technical department का head होने की वजह से CTO द्वारा bachelor of engineering की अनिवार्यता कंपनी द्वारा रखी जाती है। हालांकि master of technology होने पर उम्मीदवार को वरीयता दी जा सकती है।

CTO की सैलरी कितनी होती है

CTO कंपनी का टेक्नोलॉजिकल ऑफिसर होता है। इसलिए उसका वेतन annually 5 लाख से लेकर 10 लाख तक हो सकता है। हालांकि यह शुरुआती वेतन है। Experience  के साथ CTO की सैलरी बढ़ती जाती है। वेतन के अलावा कंपनी द्वारा CTO को विभिन्न प्रकार के incentives भी दिए जाते हैं। जैसे कि medical benefit, insurance, leaves, इत्यादि।

CTO संक्षिप्त रूप के अन्य फुल फॉर्म

  • Chief Technical Officer
  • Configure To Order
  • Clinical Trials Office
  • Cancelled To Order
  • Central Ticket Office
  • Chris Taylor Orchestra
  • Color Temperature Orange
  • Control Tower Operator
  • Consolidated Tomoka Land Company
  • Carbon Taste and Odor
  • Carroll Tire Online
  • Continuously Tardy Order
  • Contribution Towards Overheads
  • Consejo Tecnico Operativo
  • Compensatory Time Off
  • Character Through Originality
  • Christmas Tree Ornament
  • Container Terminal Order
  • Cyprus Tourism Organisation

ये भी पढ़े:-

ICT का फुल फॉर्मUNO का फुल फॉर्म
RTO की फुल फॉर्मACP Full Form

FAQ

Q : किसी कंपनी का CTO क्या है?

Ans : किसी कंपनी का CTO संगठन के Chief Technology Officer के रूप में जाना जाने वाला मुख्य प्रौद्योगिकी विशेषज्ञ है जो कंपनी के सभी प्रौद्योगिकी निर्णयों और विश्लेषण के लिए जिम्मेदार होता है।

Q : CTO किसे रिपोर्ट करता है?

Ans : एक कंपनी का CTO मुख्य रूप से तकनीकी विभाग में सभी विश्लेषण और अवलोकन के लिए कंपनी के सीईओ को रिपोर्ट करता है।

अंतिम शब्द

उम्मीद है की आपको CTO की फुल फॉर्म के बारे में पता चल गया होगा और अगर आपको CTO के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल गयी होगी तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और कोई सवाल है तो निचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते है ।

Naresh Kumar
Naresh Kumarhttps://howgyan.com
इनका नाम नरेश कुमार है और यह इस ब्लॉग के Founder है । वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है । इनको 2 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 4 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here