HomeInternetCloud Storage क्या है और इसका उपयोग कैसे करें ?

Cloud Storage क्या है और इसका उपयोग कैसे करें ?

Cloud Storage क्या है: यह आपको जरूर जानना चाहिए। क्योंकि आज तो समझ में Cloud Storage का उपयोग बढ़ता ही जा रहा है। दरअसल क्लाउड स्टोरेज एक तरीके से थर्ड पार्टी का सर्वर होता है जहां पर हम अपना डाटा रखते हैं।

जब से कंप्यूटर की खोज हुई है तब से हमें अपना डाटा रखने के लिए काफी समस्याओं का सामना  कर रहे है। शुरुआती समय में floppy disk का उपयोग होता था। जिसमें केवल 800 KB से लेकर 2.8 MB का ही storage मिलता था। फिर जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी आगे बढ़ती गई, स्टोरेज की क्षमता बढ़ती गई।

Cloud Storage क्या है और इसका उपयोग कैसे करें

 जैसे CD-DVD आई उसके बाद pen drive फिर उसके बाद hard disk आने लगी जिसमें हम हजारे GB डाटा रख सकते हैं।

मगर hard disk  में भी सबसे बड़ी समस्या यह है, कि  कुछ समय बाद खराब हो जाता है, या इसमें मुझे डाटा करप्ट हो जाता है। तो आखिर सवाल आता है,कि इस समस्या का उपाय क्या है। इस समस्या का उपाय cloud storage है। क्लाउड स्टोरेज क्या है?आइये विस्तार से समझने की कोशिश करते हैं।

क्लाउड स्टोरेज क्या है | What is Cloud Storage?

Cloud Storage एक थर्ड पार्टी का सर्वर होता है, जहां पर हम अपना डेटा स्टोर कर देते हैं।  जब भी हमें अपना डाटा देखना होता है तब हम सर्वर तक जाकर अपना डाटा देख सकते हैं। हम अपने मोबाइल कंप्यूटर में डाउनलोड भी कर सकते हैं। वर्तमान समय में ढेर सारे क्लाउड स्टोरेज की सेवाएं प्रदान करने वाली कंपनियां है। जैसे कि google drive, Dropbox, one drive, amzone cloud storage कंपनियों है।

क्लाउड स्टोरेज का उपयोग कैसे करें | How to use Cloud Storage?

जैसा कि मैंने बताया कि वर्तमान समय में क्लाउड  की सेवा देने वाली बहुत सारी कंपनियां है। जैसे कि google drive , Dropbox one drive,  इन कंपनियों के पास कुछ जीबी डाटा रखने तक आपको कोई पैसा नहीं देना होता है। पर तय सीमा से अभी का अगर आपको डाटा रखना है। तो आपको कुछ पैसे चुकाने पड़ते हैं। यह पैसे काफी मामूली रकम होती है।

आप किसी भी क्लाउड स्टोरेज की सेवा प्रदान करने वाली कंपनी के पास जा सकते हैं। वहां पर अपना ऑनलाइन अकाउंट खोलकर अपना डाटा सेव से कर सकते हैं। याद रखिए जब आप अपना अकाउंट बना रहे होते हैं तब आपको यूज़र आईडी और पासवर्ड दिया जाता है। वह यूजर आईडी और पासवर्ड आपको हमेशा याद रखना है।

क्योंकि जब आप अपना डाटा वापिस देखना चाहेंगे तब आपसे वही यूजर आईडी और पासवर्ड देना पड़ेगा। अगर आप अपना यूजर आईडी और पासवर्ड भूल जाते हैं तब आपको अपना डाटा वापस हासिल करने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

अब अब आप क्लाउड स्टोरेज क्या होता है? और इसका उपयोग कैसे करें? यह जान गए हैं तो यह भी जान लीजिए क्लाउड स्टोरेज कितने प्रकार के होते हैं

Cloud storage के प्रकार | Types of Cloud Storage

क्लाउड स्टोरेज की सेवा प्रदान करने वाली कंपनियों ने अलग-अलग सुविधाओं के मुताबिक अलग-अलग क्लाउड स्टोरेज के प्रकार निकाले हैं। मुख्य रूप से क्लाउड स्टोरेज के चार प्रकार होता है।

  • Personal Cloud Storage
  • Public Cloud Storage
  • Private Cloud Storage
  • Hybrid Cloud Storage

  इन सभी तरह से क्लाउड स्टोरेज के विषय में विस्तार से जानकारी लेते ।

Personal Cloud Storage

Personal Cloud Storage को मोबाइल क्लाउड स्टोरेज कहा जाता है। इस तरीके का क्लाउड स्टोरेज में यूजर को data syncing की सुविधा दी जाती है। जिससे कि जब दुनिया में कहीं भी किसी भी कंप्यूटर या मोबाइल से अपना यूजर आईडी और पासवर्ड डालकर अपना डाटा एक्सेस कर पाता है।

Public Cloud Storage

Public Cloud Storage यह साधारण व्यक्ति के  नहीं होता है। केवल अमीर या बिजनेस में लोग ही पब्लिक क्लाउड स्टोरेज का उपयोग करते हैं। दरअसल इस तरीके की क्लाउड स्टोरेज की सिक्योरिटी काफी तगड़ी होती है। और जल्दी कोई भी है हैकर हैक नहीं कर पाता है।

Private Cloud Storage 

Private Cloud Storage इस तरीके का फोरम होता है। जहां पर सर्वर देने वाली  कंपनी और सर्विस को उपयोग करने वाले लोग आपस में मिलकर ही प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज बनाते हैं। इस तरीके की स्टोरेज में किसी तीसरे व्यक्ति की एंट्री नहीं होती है।

Hybrid Cloud Storage

Hybrid Cloud Storage यह पर्सनल क्लाउड स्टोरेज से जुड़ा हुआ होता। अमीर लोग पूरा सरवर है खरीद लेते हैं और उसमें अपना डाटा रखते हैं। और यह Private Cloud Storage इसी का एक हिस्सा है।

क्लाउड स्टोरेज के फायदे और नुकसान | Advantages and Disadvantages of Cloud Storage

क्लाउड स्टोरेज कितनी अच्छी चीज है ना! हमें अपना कीमती डाटा रखने के लिए थर्ड पार्टी को दे देते हैं।वह कुछ पैसे या मुफ्त में ही हमारा डाटा संभालती है। पर वह कहते हैं ना की हर वस्तु अच्छी भी होती है, और खराबी होती है! तो आइए क्लाउड स्टोरेज के फायदे और नुकसान का विषय में हम जान लेते हैं।

क्लाउड स्टोरेज के फायदे | Advantages of Cloud Storage.

  • एक बार आप क्लाउड स्टोरेज में अपना डाटा रखने के बाद आप दुनिया भर में कहीं पर भी अपना डाटा ले सकते हैं। आपको अपना डाटा चोरी हो जाने या खो जाने का डर नहीं रहता है।
  • आमतौर पर क्लाउड स्टोरेज के कंपनियों का सर्वर हैक करके डाटा निकालना काफी मुश्किल भरा होता है। क्लाउड स्टोरेज उपयोग करने का सबसे बड़ा फायदा यही है कि आपको भरपूर सुरक्षा मिलती है।
  • क्लाउड स्टोरेज काफी सस्ता अच्छा और टिकाऊ उपाय है अपने डाटा को सुरक्षित रखने का!
  • क्लाउड स्टोरेज में रखी हुई फाइल को आप बड़े ही आसानी के साथ एक दूसरे के साथ शेयर कर सकते हैं।

क्लाउड स्टोरेज के नुकसान | Disadvantages of Cloud Storage

  • आपको अपना डाटा प्राप्त करने के लिए इंटरनेट से जुडना पड़ेगा। आप ऐसी जगह पर है जहां इंटरनेट की सुविधा नहीं है, तो ऐसी स्थिति में आप अपना डाटा नहीं प्राप्त कर पाएंगे।
  • आपका रखा हुआ डाटा गोपी गोपनीयता बहुत बड़ी समस्या होती है। क्योंकि बहुत बार रखा हुआ डाटा लिखकर जाता है।
  • आपने जिस क्लाउड स्टोरेज कंपनी में अपना डाटा रखा हुआ है। वह कंपनी अगर बंद हो गई तो आपका डाटा मिलना मुश्किल हो सकता है।

ये भी पढ़े:-

FAQ

Q : Cloud Storage क्या है ?

Ans : Cloud Storage एक थर्ड पार्टी का सर्वर होता है, जहां पर हम अपना डेटा स्टोर कर देते हैं।  जब भी हमें अपना डाटा देखना होता है तब हम सर्वर तक जाकर अपना डाटा देख सकते हैं।

Q : क्लाउड स्टोरेज कितने प्रकार के होते हैं?

Ans : क्लाउड स्टोरेज के प्रकार : –
पर्सनल क्लाउड स्टोरेज
पब्लिक क्लाउड स्टोरेज
प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज
हाइब्रिड क्लाउड स्टोरेज

आखिरी शब्द

उम्मीद है कि,आपको cloud storage क्या है?इसका उपयोग कैसे करते हैं? क्लाउड स्टोरेज कितने प्रकार के होते हैं?क्लाउड स्टोरेज के क्या फायदे और नुकसान है? इन सभी विषयों पर आपको जानकारी मिल गई होगी।

मुझे यह भरोसा है कि cloud storage के विषय में यह आर्टिकल पढ़ने के बाद आपको क्लाउड स्टोरेज पर विषय में जानने के लिए क्या हुआ जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

Naresh Kumar
Naresh Kumarhttps://howgyan.com
इनका नाम नरेश कुमार है और यह इस ब्लॉग के Founder है । वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है । इनको 2 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 4 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here