HomeHow ToCurrent Account ( चालू खाता) क्या होता है ?

Current Account ( चालू खाता) क्या होता है ?

ब भी कोई बैंक में अकाउंट खुलवाने जाता है तो तो आपसे पूछा जाता है की आपको किस टाइप का अकाउंट खुलवाना है सेविंग अकाउंट और Current Account ( चालू खाता) खुलवाना है अगर आपको यह जानना है की यह दोनों खातो में क्या अंतर है तो आप इस पोस्ट को पड़ सकते है इसमें बताया गया है की दोनों में क्या अंतर है ।

आप Current Account ( चालू खाता) में रोजाना बहुत लेनदेन कर  सकते है और आपको किसी भी परकार का कोई व्याज नही मिलता है क्युकी आप रोज लेन देन करते है है और आपको बहुत सारे सुविदा दी जाती है और यह सब सुविदा आपको सेविंग अकाउंट में नहीं दी जाती है,आपको लिमिट  मिलती है जैसे की एटीएम में आप 5 से 6 टाइम ही महीने में पैसे निकाल सकते है,और Current Account ( चालू खाता) में ऑनलाइन Transaction पर कोई लिमिट नहीं होती है ।

Current Account Kya Hota hai

Current Account ( चालू खाता) क्या होता है

करंट अकाउंट जिससे हम चालू खाता भी कहते है जैसे की उसके नाम से ही पता चल जाता है ,अगर आपको करंट अकाउंट खुलवाना है तो आपको तो आपको कोई कंपनी,बिज़नस,बिजनेसमैन है तो आप करंट अकाउंट खुलवा सकते है और आपको बता दू की आपको करंट अकाउंट पर कोई व्याज नहीं मिलता है और आप इन्वेस्टमेंट के लिए करंट अकाउंट नहीं खुलवा सकते है ,अगर आप रोज लेनदेन करते है तो आपको करंट अकाउंट की जरुरत होगी जिस्स्से आप बहुत लेनदेन कर सकते है चेक और ऑनलाइन के द्वारा ,जैसे आपको पता होगा की जो बड़ी कंपनी जैसे की अमेज़न,फ्लिपकर जैसे कंपनी के अकाउंट में रोज के लाखों लेनदेन होते है,तो इसी लिए करंट अकाउंट की जरुरत पड़ती है ,करंट अकाउंट में ओवरड्राफ्ट की सुविदा भी दी जाती है ।

चालू खाता खुलवाने के लिए न्यनतम कितने राशी होनी चाहिये ?

अगर आपको बैंक में करंट अकाउंट खुलवाना है तो  आपको बैंक में मिनिमम बैलेंस अकाउंट में रखना पड़ता है ,सभी बैंक में अलग अलग मिनिमम बैलेंस रखना पड़ता है आपको State Bank of India में आपको 10000 मिनिमम बैलेंस रखना पड़ेगा ।

चालू खाता खोलने की लिए कितने पैसे की जरुरत होती है ?

Current Account Kya Hota hai

जब आप बैंक अकाउंट खुलवाने के लिए जाते है तो आपके मन में एक सवाल आता होगा की करंट अकाउंट के लिए कितने पैसे को जरुरत होगी,आपको बता दू की ज्यदातर बैंक में आप 10000 रु में अकाउंट खुलवा सकते है ।

चालू खाते के फायदे और नुक्सान

अगर चालू  का सबसे बड़ा फायदा ये होता है की आप बहुत से लेनदेन कर सकते  है और आपको कोई भी चार्ज नहीं किया जायगा ,और आपको करंट अकाउंट में ओवरड्राफ्ट की सुविदा भी मिलती है ।

आपको सेविंग अकाउंट की ही तरह एटीएम कार्ड और नेट बैंकिंग दी जाती है और आप उससे बहुत बार लेनदेन कर सकते है ,और उस पर कोई चार्ज नही लिया जाता  है ।

अगर कोई वक्ति बिजनेसमैन है तो उसके लिए करंट अकाउंट ही खुलवाना चाहिये क्युकी इसमें बहुत सारे सुविदा मिलती है ।

आपको चेक बुक की सुविदा फ्री मिलती है हर महीने या फिर 3 महीने के बाद फ्री में आपको चेक बुक मिलती है अगर आपको  ज्यदा चेक बुक चाहिये तो आप कुछ शुल्क देकर ले सकते है ।

ऑनलाइन किसी दुसरे बैंक में पैसे ट्रान्सफर  करते है ,NEFT और RTGS की मदत से तो आपको उसमे कुछ छुट मिल जाती है ।

करंट अकाउंट से होने वाले नुक्सान की बात करे तो आपको इसमें रखे पैसे पर कोई भी व्याज नहीं मिलता है ।

करंट अकाउंट में आपको एक न्यनतम बैलेंस रखना पड़ेगा जो की 10000 रुपया तक हो सकता है ।

चालू  खाता खुलवाने के लिए जरुरी कागजात

  • आधार कार्ड /वोटर कार्ड /ड्राइविंग लाइसेंस
  • पैन कार्ड
  • कंपनी/फर्म का एड्रेस प्रूफ
  • पार्टनर्स और डायरेक्टर्स का आईडी और एड्रेस प्रूफ
  • बैंक खाता खोलने के लिए एक कैंसिल चेक

Frequently Asked Questions

करेंट अकाउंट को चालू खाता भी कहा जाता है. यह अकाउंट कंपनी या कारोबारियों के लिए होता है. इन्‍हें रोजाना पैसे के लेनदेन की जरूरत पड़ती है. जहां पैसे का लेनदेन बड़े पैमाने पर होता है, वहां लोग करेंट अकाउंट का इस्‍तेमाल करते हैं ।

बचत को प्रोत्साहित करने और बढ़ावा देने के लिए एक बचत खाता खोला जाता है। चालू खाता एक नियमित या लगातार लेन-देन की सुविधा के लिए डिज़ाइन किया जाता है। बचत खाता किसी भी व्यक्ति के लिए आदर्श विकल्प है जो वेतनभोगी कर्मचारियों की तरह स्थिर या नियमित आय अर्जित करते हैं।

करंट अकाउंट की एक minimum monthly balance limit होती हैं जिसमे आपको कम से कम उस लिमिट जितने पैसे अपने अकाउंट में रखने ही होते हैं। ये लिमिट ज्यादातर बेंको में 5000 से 10000 रूपये की होती हैं। एक ख़ास बात इस खाते की जो है की इसमें बैंक कोई ब्याज (interest) नहीं देता बल्कि कुछ खातो में कुछ सर्विस चार्ज लिया जाता हैं ।

बचत खाते (सेविंग्स अकाउंट), खुदरा वित्तीय संस्थाओं द्वारा बनाये रखे जाने वाले खातों को कहते हैं जो ब्याज तो प्रदान करते हैं लेकिन जिन्हें सीधे तौर पर धन के रूप में (उदाहरण के लिए, एक चेक लिखकर) इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है ।

आरबीएल बैंक में बचत खाते पर 1 लाख रु तक पर 4.75 फीसदी ब्याज मिलता है। वहीं 1 से 10 लाख रु तक पर आपको 6 फीसदी ब्याज मिलेगा। 10 लाख रु से 5 करोड़ रु तक की राशि पर आपको 6.75 फीसदी ब्याज मिलेगा । 

यदि आप एक Current Account खुलवाना चाहते है तो आपको निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी –
  1. पैन कार्ड
  2. पासपोर्ट साइज की फोटो
  3. व्यवसाय का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट – GST Registratio/Shop Establishment Registration (For Proprietorship), Partnership Deed (For Partnership), Incorporation Certificate (For Company)

अगर आप बैंक में अकाउंट खोलना चाहते हैं तो अपना पैन और आधार कार्ड तैयार रखें. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंक में खाता खोलने के लिए आधार और पैन जरूरी कर दिया है. केवाईसी (नो योर कस्टमर या KYC) से जुड़े अपने नए दिशानिर्देशों में केंद्रीय बैंक ने इसका जिक्र किया है ।

Conclusion

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल्स से आपको पता चल गया होगा की करंट अकाउंट क्या होता है और कोन कोन से कागजात जरुरी होते है अगर आपको कोई भी समस्या है तो आप निचे लिख सकते है ।

Naresh Kumarhttps://howgyan.com
नमस्कार दोस्तों, मैं नरेश कुमार HowGyan.com का Founder & Author हूँ,आपको इस वेबसाइट पर मैं SEO,Technology और Education के बारे में अपने इस ब्लॉग पर लिखता हूँ अगर आपको इन सभी के बारे में जानकारी चाहिये तो इस ब्लॉग के पोस्ट को जरुर पढ़े ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here