HomeGK101+ Tongue Twisters in Hindi | दिमाग चकराने वाले मजेदार टंग ट्विस्टरर्स

101+ Tongue Twisters in Hindi | दिमाग चकराने वाले मजेदार टंग ट्विस्टरर्स

-

नमस्कार दोस्तों इस पोस्ट में हम आपके लिए बहुत ही मजेदार टंग-ट्विस्टर्स (Tongue Twisters in Hindi) लेके आये है जिससे आपका दिमाग और आपका Tongue दोनों घूम जायगा ।

टंग-ट्विस्टर्स सिर्फ बोलने में ही कठिन नहीं होते है बल्कि इससे दिमाग और जीभ की कसरत हो जाती है और यह बोलने में भी बहुत ही मजेदार होते है ।

Tongue Twisters in Hindi

Tongue Twisters in Hindi | दिमाग चकराने वाले मजेदार टंग ट्विस्टरर्स

टंग ट्विस्टर्स क्या हैं – Tongue Twisters in Hindi

टंग ट्विस्टर सामान्य भाषा में कहे तो, एक ही तरह के शब्दों को जब उल्टा-फुलटा करके बोला जाता है या बनाया जाता है ओर जल्दी-जल्दी बोलने से गलती होने की संभावना बढ़ जाती है ओर बोलने वाला मजाक का पात्र बन जाता है । इसी ही टंग ट्विस्टर कहते है | इसमे टंग का मतलब जीभ से होता है और ट्विस्टर यानी मरोड़ने वाला होता है ।

टंग ट्विस्टर्स के लाभ – Benefits of Tongue Twisters

टंग ट्विस्टर शब्दों का उच्चारण करते समय सब हकला जाता है और इससे दिमाग की अच्छे से कसरत हो जाती है और इन शब्दों का हमेशा उच्चारण करने से हम सही से इन शब्दों का उच्चारण कर पाते है ।

Famous Tongue Twisters in Hindi – हिंदी भाषा के प्रसिद्ध टंग-ट्विस्टरर्स

कच्चा पापड़, पक्का पापड़

मैंने कहा, आपने सही कहा

मर हम भी गए मरहम के लिए, मरहम ना मिला हम दम से गए, हमदम के लिए, हमदम न मिला

जो हँसेगा वो फंसेगा, जो फंसेगा वो हँसेगा

आलू भूरा है, भालू काला है

तोला राम ताला तोल के तेल में तुल गया, तुला हुआ तोला ताले के तले हुए तेल में तला गया

डाली डाली पे नज़र डाली, किसी ने अच्छी डाली, किसी ने बुरी डाली| जिस डाली पे मैंने नज़र डाली वोही डाली किसीने तोड़ डाली

शनिवार को सही समय पर शहद सही पहुंचाना शाम समय पर शहद न पहुंचा साल भर शर्माना

समझ समझ के समझ को समझो, समझ समझना भी एक समझ है

Tongue Twisters in Hindi

दुबे दुबई में डूब गए

मर हम भी गए मरहम के लिए, मरहम ना मिला हम दम से गए, हमदम के लिए, हमदम न मिला

चार कचरी कच्चे चाचा, चार कचरी पक्के पक्की कचरी कच्चे चाचा, कच्ची कचरी पक्के !

दूबे दुबई में डूब गया

तोला राम ताला तोल के तेल में तुल गया, तुला हुआ तोला ताले के तले हुए तेल में तला गया

पिली रेल काली रेल पिली रेल काली रेल काली काली पिली पिली रेल

लपक बबुलिया लपक, अब ना लपकबे तो लपकबे कब

पके पेड़ पर पका पपीता, पका पेड़ या पका पपीता, पके पेड़ को पकड़े पिंकू, पिंकू पकड़े पका पपीता

तेंदुलकर प्रभाकर गावस्कर वेंगसरकर, वेंगसरकर गावस्कर प्रभाकर तेंदुलकर

खड़क सिंह के खड़कने से खड़कती हैं खिड़कियां खिड़कियों के खड़कने से खड़कता है खड़क सिंह

टूट टूट कर कूट कूट कर

ले नियम दे नियम दे नियम ले नियम

जो जो को खोजो खोजो जोजो को जो जोजो को ना खोजो तो खो जाए जो जो

जो जो को खोजो खोजो जोजो को जो जोजो को ना खोजो तो खो जाए जो जो

चार चोर चार छाते में चार अचार चाटे चाट-चाट कर चार छाता चोर चुराकर भागे

मत हँस हँस मत, मत फंस फंस मत

चार चोर चार छाते में चार अचार चाटे चाट-चाट कर चार छाता चोर चुराकर भागे

बुड्ढ़े के बाल गुड्ढ़े के गाल

एक ऊँचा ऊँट है, पुँछ ऊँची ऊँट की पुँछ से भी ऊँची कया, पीठ ऊँची ऊँट की

शनिवार को सही समय पर शहद सही पहुंचाना शाम समय पर शहद न पहुंचा साल भर शर्माना

चांदनी रात में चार चुड़ैल चुर्की पकड़ कर चुटुर चुटुर चना चबाये

काला कबूतर सफेद तरबूज, काला तरबूज सफेद कबूतर

नीली रेल लाल रेल नीली रेल लाल रेल

लकड़ी पर चकरी चकरी में लड़की

कच्चा कचरा पक्का कचरा

छल्ले में छल्ला छज्जे पे चच्चा

भगवान ने भेजे को भेजा पर ऐसे भेजे को क्यूँ भेजा जिसमे भेजा ही नही भेजा

आज कल है और कल आज है, परसों आ गया और आज है

भगवान ने भेजे को भेजा पर ऐसे भेजे को क्यूँ भेजा जिसमे भेजा ही नही भेजा

चंदू के चाचा ने चंदू की चाची को चांदनी रात में चांदी के चमच्च से चटनी चटाई

चंदू के चाचा ने चंदू की चाची को चांदनी रात में चांदी के चमच्च से चटनी चटाई

सूखा कूड़ा, गीला कूड़ा

टेची में कैंची टेची पे कैंची

आले में अलमारी काली अलमारी

पांच पापड़ कच्चे पापा, पांच पापड़ पक्के पक्के पापड़ सेको पापा कच्चे रखो पीछे

पक पका पक पका पक पक पका पक

तुला राम ताला तोल के तेल में तुल गया, तुला हुआ तोला तले हुए तेल में तल गया

पांच पापड़ कच्चे पापा, पांच पापड़ पक्के पक्के पापड़ सेको पापा कच्चे रखो पीछे

नदी किनारे किराने की दूकान

पीतल के पतीले मे पका पपीता पीला पीला

पांच कुत्ते छह बिल्लियों का शिकार कर रहे हैं

पिली रेल काली रेल पिली रेल काली रेल काली काली पिली पिली रेल

उंट उ्ंंचा उट की पीठ उची उची पुछ उट की

पीतल के पतीले में पपीता पीला पीला

पक्की कचरी कच्चे चाचा, कच्ची कचरी पक्के

नदी किनारे किराने की दुकान

पीतल के पतीले में पपीता पीला-पीला

समझ समझ के समझ को समझो, समझ समझना भी एक समझ है. समझ समझ के जो न समझे, मेरे समझ में वो ना समझ है

ऊंट ऊंचा, ऊंट की पीठ ऊंची. ऊंची पूंछ ऊंट की

चंदा चमके चम् चम्, चीखे चौकन्ना चोर, चिति चाते चीनी, चकोरी चीनी खोर

जो जो को खोजो, खोजो जोजो को । जो जोजो को ना खोजे, तो खो जाए जोजो

नंदु के नाना ने नंदु की नानी को नंद नगर मे नागिन दिखाई

डबल बबल गम बबल डबल

पीठ ऊँची ऊँठ की ऊंचाई से नहीं होती होती ही है होती ही है पीठ ऊँची ऊँठ की

आचार का कचरा ,कचरे के डिब्बे मेँ. कचरे के डिब्बे मेँ आचार का कचरा

अंकल, आपकी चाय ने आपकी खांसी दूर कर दी

चार कचड़ी कच्चे चाचा, चार कचड़ी पक्के. पक्की कचड़ी कच्चे चाचा, कच्ची कचड़ी पक्के

गोल में गप्पा गप्पे में गोला

नज़र नज़र में हर एक नज़र में हमे उस नज़र की तलाश थी| वो नज़र मिली तो सही पर उस नज़र में अब वो नज़र कहाँ थी

मदन मोहन मालविया मद्रास में मछली मारते-मारते मरे

काला कबूतर, सफेद तरबूज, काला तरबूज, सफेद कबूतर

कच्चे पेड़ पर पका पपीता पका पेड़ या पका पपीता, पके पेड़ को पकडे पिंकू, पिंकू पकडे पका पपीता

उड़ी चिड़ी ऊंची उड़ी सब्जी पूड़ी ठंडी पड़ी

अगर मेरे चाचा आपके चाचा की हत्या करते हैं,तो आपके चाचा की हत्या कर दी जाएगी ।

लाला गोपे गोपाल गोपंग्गम दास

ऊंट बांध कर सुंठ खाऊँ, सुंठ खाकर ऊंट बंधू

रोटी खा के पॉटी जाओ पॉटी जा के रोटी खाओ

लपक बबुलिया लपक, अब ना लपकबे त लपकबे कब

मदन मोहन मालवीय मदा्स मे मछली मारते मारते मरे

नीला अंगूर काला लंगूर

पीठ ऊँची उंट की उह्चई से नहीं होती, होती ही है होती ही है पीठ ऊँची उंट की

शनिवार को सही समय पर शहद सही पहुँचाना,शाम समय पर शहद न पहुँचा तो साल भर शर्माना

काला कबूतर सफेद तरबूज,काला तरबूज सफेद कबूतर

राधा की बूनी में नीबू की धारा

चार चोर चार छाते में चार अचार चाटे चाट-चाट कर चार छाता चोर चुराकर भागे

साडी को साडी से लपेटा बेटा

भालु काला आलू भूरा

चंदू के चाचा ने, चंदू की चाची को, चांदनी-चौक में, चांदनी रात में, चांदी के चम्मच से चटनी चटाई

ऊँट ऊँचा, ऊँट की पीठ, ऊँची, पूँछ ऊँची ऊँट की

चाचा के चौड़े चबूतरे पर चील ने चूहे को चोंच से चबा डाला

राजा गोप गोपाल गोपग्गम दास

चार नयी नवेली दुल्हन दुल्हन नयी नवेली चार

एक शिकारी जो अपने कुत्ते के बिना शिकार करना जानता है

मैं वही हूं जो मैं हूं, और अगर मैं हूं तो मैं क्या हूं

चटाई पे चटनी चटाई

पानी में पकोड़ी कचोड़ी की चटोरी

खड़क सिंह के खड़कने से खड़कती हैं खिड़कियां, खिड़कियों के खड़कने से खड़कता है खड़क सिंह

शरद चन्द्र मकरन मरकण शंकर नन्द

अब कूद रस्सी रस्सी कूद कूद मत गिर पड़

कच्ची रोटी खाके रोती, रोटी खाके कच्ची रोती

अपने आप को जानें और अपने मन की बात कहें

फासले का फासला

चंदा चमके चम चम, चीखे चौकन्ना चोर, चिति चाटे चीनी, चकोरी चीनी खोर

लाली बोली लालू से लल्लन लाया था लालू की शादी पे, लाल लाल लिफाफे में लड्डू

कोका कोला कोकिला का किला

FAQ

ये भी पढ़े :-

NadiGhar
PedKayar Ka Vilom Shabd

उम्मीद है की आपको दिमाग चकराने वाले मजेदार टंग ट्विस्टरर्स के बारे में जानकारी मिल गयी होगी और अगर आपको यह Tongue Twisters के बारे में जानकारी बढ़िया लगी है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ।

Naresh Kumarhttps://howgyan.com
नमस्कार दोस्तों, मैं नरेश कुमार HowGyan.com का Founder & Author हूँ,आपको इस वेबसाइट पर मैं SEO,Technology और Education के बारे में अपने इस ब्लॉग पर लिखता हूँ अगर आपको इन सभी के बारे में जानकारी चाहिये तो इस ब्लॉग के पोस्ट को जरुर पढ़े ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here