HomeComputerUPS क्या हैं और कैसे काम करता हैं ?

UPS क्या हैं और कैसे काम करता हैं ?

UPS क्या हैं: दोस्तों आपमें से काफी सारे लोग कंप्यूटर का इस्तमाल तो जरूर से करते होंगे और उनमें दी गई कुछ फंक्शनलिटी के बारे जानते होंगे और कुछ के बारे नहीं जानते होंग। ऐसे मैं कंप्यूटर का एक और ऐसे चीज़ हैं जो हो सकता हैं आपको नहीं पता हो? जिसका नाम यूपीएस हैं। आज हम आपको बताने वाले हैं की UPS क्या हैं?और कैसे काम करता हैं?

अगर आप एक कंप्यूटर के वपरासकर्ता होंगे तो आपको यह बात तो पता ही होगी की UPS का सबसे जयदा कही उपयोग होता हैं तो वो कंप्यूटर मैं होता है। यदि अगर आपको इस विषय के बारे मैं कोई जानकारी  or नहीं हैं या काम से काम जानकारी हैं तो आपको ज्यादा चिंतित होने की जरूरत नहीं हैं क्युकी आज हम आपको ऐसी विषय के बारे जानकारी देने वाल्व हैं की UPS क्या हैं?और कैसे काम करता हैं?

UPS क्या है

वैसे बात करे हमारे दैनिक दिनचर्या की तो हम हमारे घर या ऑफिस के अंदर इलेक्ट्रिक एप्लायंसेज को उसे तो जरूर करते हैं और कई बार तकनिकी खराबी के चलते पावर कट हो जाता है जिसकी वजह से हमारे काम के अंदर रुकवाट आ जाती है। अगर हम बात करे हमारे घर के अन्य इलेक्ट्रॉनिक  एप्लायंसेज की तो उसे लगातार पावर की जरूरत नहीं होती हैं इसलिए पावर कट होने के बाद इतनी दिक्कत नहीं होती है।

लेकिन हम बात करे कंप्यूटर सिस्टम के बारे मैं तो उसे ढंग से इस्तमाल करने के लिए हमारे पास एक अगर अच्छा और निरंतर पावर की जरूरत पड़ती है और पावर कट हो जाये तो हमारा important data  खोने का भय बढ़ जाता है। इसी समस्या को सुलझाने के लिए हमारे पास एक

ऐसा डिवाइस होना चाइये जो हमें इंटेररूपतिओं फ्री पावर सप्लाई करसकने मैं मदद करे और इसी डिवाइस को UPS कहा जाता है।

UPS device  का पूरा नाम uninterruptible power supply है और यह डिवाइस ऐसा डिवाइस हैं जो इसके साथ कनेक्टेड डिवाइस  को

निरंतर पावर सप्लाई करता है। तो इस तरीके इस UPS का सेटअप और काम होता हैं जो पावर कट होने के समय बहुत काम लगता है।

अगर पावर कट हो जाता हैं उसके बावजूद बटेरी उसके जरूर के पावर को सप्लाई कर लेता हैं और यह प्रकिया तब तक की जाती हैं जब तक main power रिस्टोर न करले और उस बटेरी का पूरा चार्ज इस्तमाल न हो जाये।

UPS  क्या होता हैं?

यूपीएस एक ऐसा अनोखा उपकरण हैं जो इनपुट पावर सोर्स या फिर पावर कटौती पर आपातकालीन परिस्तिथि मैं लोड को सकती प्रदान करता है। यूपीएस हमेसा लोड को कोंटियनेउसली पावर सप्लाई करता ही रहता हैं फिर चाहे आपका MAIN पावर सप्लाई चालू हो या बंद। यूपीएस का एक मुख्य काम हैं की वह Main power supply के एब्सेंस के अंदर हमें पावर सप्लाई करता हैं जिससे हमरे कंप्यूटर डिवाइस को दिक्कत ना हो।

आपकी जानकारी के लिए बतादे की आपके UPS की back up टाइम के अंदर इस्तमाल हुए बटेरी के प्रकार और उसके क्वांटिटी पर पूरी तरीके से निर्भर करता हैं। UPS का पूरा नाम Uninterrupted Power Supply हैं और इसे देसी भासा मैं समजे तोह इसका इस्तमाल एक अल्टरनेटिव पावर सोर्स के मुताबिक करते है। जो की हमें फ्री पावर सप्लाई करती रहे।

UPS के कुछ महत्वपूर्ण भाग

अगर हम यूपीएस के बारे मैं बात कर रहे हो तो उस के अंदर अति जरुरी चीज़ उसके पार्ट्स को भी हमें ऐड करना चाइये और यह कुल ४ पार्ट्स हैं।

• Rectifier (Battery Charger)

•  Static ByPass or Switch or Contactor

•  Battery

•  Inverter

आप चाहे तो इन सब के बारे डिटेल मैं इंटरनेट पर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं जिससे आपको इसके महत्वपूर्ण पार्ट्स के बारे मैं और भी जानकारी मिल पाए।

यूपीएस और इन्वेटर मैं क्या फर्क हैं?

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की यूपीएस और इन्वेटर मैं बहुत फर्क हैं और इसको आपको समझना जरुरी हैं। यूपीएस जो हमें लगातार पावर सप्लाई करता हैं जब हमारा पावर काट हो जाता हैं।  वही अगर हम बेटी करे इन्वेटर के तो वह हमें बटेरी के DC curret  को AC  मैं कन्वर्ट के सप्लाई करता हैं।

यूपीएस का काम डेक्सटॉप एवं कंप्यूटर को बैकअप प्रदान करना होता हैं जबकि इन्वेटर का काम घर के दूसरे इंस्ट्रूमेंट्स जैसे की टीवी,पंखे , और लाइट्स को पावर प्रदान करना है। यूपीएस को स्विच होने के लिए कोई निश्चिती  समय नहीं हैं जबकि इन्वेटर मात्रा माइक्रो सेकंड के अंदर सुरु हो जाता हैं। 

यूपीएस के मुख्य लाभ

वैसे तो इसका मुख्य लाभ हैं की यह आपके  कंप्यूटर में होने वाली पावर को नियंत्रित करने मैं सख्सम हैं। इसके खास लाभों मैं यह भी बात की हैं की पावर कट हो जाने के बाद भी यह लगातार काम करते रहता हैं और बैकअप भी प्रदान करता हैं।

कई बार अगर कंप्यूटर पावर कट हो जाने के चलते शट डाउन हो जाता हैं और डाटा लोस्स होने के चांस भी रहते हैं लेकिन यूपीएस के होने से इस बात का कोई bhay नहीं rehta की पावर चला गया तो आपका डाटा चला जायेगा। यूपीएस लाइट चले जानके बाद बहुत सरल तरीके से कुछ समय पावर सप्लाई करता हैं की आप सरलता से डाटा को सेव कर सके और शट डाउन कर पाए।

यूपीएस एमर्जेन्सी के समय मैं बहुत अच्छे तरीके से पावर सोर्स की तरह कार्य करता है। जब आप की घर की बिजली चली जाती हैं तब आप यूपीएस/इन्वेटर की सहायता से घर में बिजली का इस्तमाल कर सकते हैं और यह भी एक कारन हैं  की यह एक बेहतरीन एमर्जेन्सी पावर सोर्स हैं।

यूपीएस आपको आपके कंप्यूटर मैं होने वाले करंट फ्लक्चुएशन से होने वाली सभी हानि से सुरक्षा प्रदान करता है, इस चीज़ के लिए यह कंप्यूटर मैं आने वाले विधियुत को कण्ट्रोल करता है। 

हमने आपको अभी तक जितनी भी जानकारी दी हैं उसके मुताबिक हम आशा रखते हैं की आप UPS क्या हैं?और कैसे काम करता हैं? इसको समाज गए होंगे और इसके फायदे के बारे मैं भी समज गए होंगे।

UPS के प्रकार

यूपीएस के प्रकार की बात करे तो यहाँ पर तक़रीबन 6 प्रकार हैं जो यह सब हैं।

  • स्टैंडबाई
  • लाइन इंटरैक्टिव
  • स्टैंडबाई ऑनलाइन हाइब्रिड
  • स्टैंडबाई-फेर्रो
  • डबल कन्वर्शनों -लाइन
  • डेल्टा  कन्वर्शन  ऑनलाइन

ये भी देखे-

FAQ

Q : यूपीएस का मतलब क्या है?

Ans : UPS (यूपीएस) का मतलब या फुल फॉर्म Uninterruptible power supply (अनइंटरप्टिबल पावर सप्लाई) होता है।

Q : यूपीएस कौन सा डिवाइस है?

Ans : UPS मूल रूप से बैटरी के साथ एक इन्वर्टर है जिसका उपयोग इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसे पीसी, सर्वर, ऑडियो वीडियो आदि के लिए बैटरी बैकअप और सर्ज प्रोटेक्शन प्रदान करने के लिए किया जाता है।

आखिरी शब्द

उम्मीद है कि आपको यूपीएस के बारे में जानकारी मिली होगी यूपीएस क्या है इसके क्या फायदे हैं क्या नुकसान है और क्या आप इस्तेमाल करना चाहिए कि नहीं अगर आपके सब जानकारी मिल गई होगी तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

Naresh Kumar
Naresh Kumarhttps://howgyan.com
इनका नाम नरेश कुमार है और यह इस ब्लॉग के Founder है । वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है । इनको 2 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 4 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here