HomeInternetServer क्या है और कैसे काम करता है?

Server क्या है और कैसे काम करता है?

Server क्या है: क्या आप जानते हैं जब हम internet  का प्रयोग करते हैं तो उसको manage कौन करता है? हालांकि इसमें बहुत सारी process होती है।इन्ही process मे एक server भी होता है। बिना जानकारी के server का प्रयोग नहीं किया जा सकता है।साथ ही बहुत से लोग नहीं जानते कि server किसे कहते हैं?

Server क्या है

 आइए आज की पोस्ट में हम जानेंगे Server क्या है और कैसे काम करता है?

 Server क्या है?

 सर्वर वह computer program है जो किसी software या computer machine से request आने का इंतजार करता है। और इसकी processing करके reply देता है।

 Server वेब पेज को Store और process करता है। ताकि web page यूज़र को  आसानी से deliver हो जाए। लेकिन आपने भी देखा होगा कि जब competition exam का छात्र form भरते हैं। तो website overload  होने से server अच्छी तरह काम नहीं कर पाते हैं।

 Web server क्या होता है?

 एक कंप्यूटर, दूसरे कंप्यूटर को service देता है। ताकि  मांगी गई जानकारी user को दी जा सके। जब आप भी Google search  करते होंगे तो आपके लिए तुरंत information निकल कर आती होगी। यह सब web server की मदद से ही संभव होता है।

  •  Google सबसे बड़ा search engine है। आपको जो भी जानकारी चाहिए, आप गूगल पर सर्च करके देख सकते हैं।
  •  Normal laptop/ computer  को हम server बना सकते हैं। लेकिन यह सर्वर non dedicated server होता है। क्योंकि Google या  किसी अन्य सर्च इंजन पर जो भी searches होती हैं वह 24 घंटे में कभी भी हो सकती हैं। इसलिए आपका laptop  या computer  हर time खुला तो नहीं रह सकता।
  •  जो computer / laptop 24 घंटे खुले रहते हैं उन्हीं को dedicated server कहते हैं। लेकिन ऐसे computer costly होते हैं। क्योंकि उनमें high quality and high speed processor Ram  लगे होते हैं। हम आजकल जो भी सर्च करते हैं वह सभी dedicated server  मे ही होते हैं।

 Server कैसे काम करता है?

 जब आप YouTube पर video search box मे अपनी पसंदीदा वीडियो सर्च करते हैं। तो आपकी request YouTube server के पास जाती है। आप की मांगी गई जानकारी  जल्द से जल्द YouTube server खंगालता है। फिर आपको वह मांगी गई  जानकारी आपके device  तक पहुंचाता है।

 Internet पर browsing, mail, social networking sites इत्यादि का इस्तेमाल सर्वर की मदद से ही किया जाता है।

 Server की जरूरत हमें क्यों है?

 Server network security देता है। आपका data आपके file server  मे Store रहता है। इससे  दूसरा कोई आपके data का गलत उपयोग ना कर पाए ऐसा काम server करता है।

  •  Server की सबसे बड़ी खासियत उसका 24 घंटे काम करना है। Server का चाहे hardware fail भी हो जाए, तब भी server service देता रहता है। आपने देखा होगा कि जब बिजली चली जाती है तो personal computer काम नहीं करता है। लेकिन server power supply से जुड़े रहते हैं और इन पर कोई असर नहीं होता है।
  •  Server raid configuration hard drive का उपयोग करता है। ताकि सर्वर में higher storage capacity हो सके।

 Types of server( सर्वर कितने प्रकार का होता है )

 Server कई प्रकार के होते हैं। जिनका काम अलग अलग होता है। आइए server  के विभिन्न प्रकारों के बारे में जानते हैं।

  •  Web server : ऐसे सर्वर website hosting, website searching, web page Store, processing and delivering इत्यादि का काम वेब सर्वर के माध्यम से किया जाता है। इसी के अंतर्गत  आप जब भी गूगल पर कुछ सर्च करते हैं तो आपको जो भी result मिलते हैं। वे सब web server की वजह से ही आते हैं।
  •  Application server : यह सर्वर vacant business application या database के सभी application को चलाता है। Application को डेवलप करना और चलाना इस server की मदद से ही किया जाता है। जैसे PHP, Java, n e t.
  •  Proxy server : जो भी website आपके computer मे खुल नहीं पाती हैं। उनको proxy server के जरिए खोला जाता है। इसमें server डाटा का ट्रांसफर LAN OR WAN के जरिए किया जाता है।
  •  Mail server : जैसा की नाम से ही पता है, यह सर्वर mails से संबंधित चीजों को देखता है। जैसे mail send करना या mail receive करना।
  •  Database server : store database को मैनेज कुछ authorised users के हाथ में होता है। जिसका उपयोग permission  और regularly backup के लिए किया जाता है।
  •  FTP server : जब computer द्वारा एक फाइल दूसरे computer मे भेजी जाती है। तो  यह सर्विस file transfer protocol कहलाती है। जोकि FTP server के द्वारा ही होती है।
  •  File server : इसका उपयोग Local Network मे ज्यादा किया जाता है। ऐसे सर्वर file transfer का ही काम करते हैं। जैसे documents, sound files, photograph, image इत्यादि को भेजना।
  •  Fax server : जो server fax related काम करते हैं। उनको fax server कहां जाता है। आपने देखा होगा जब हम फैक्स को एक जगह से दूसरी जगह पर निकाल पाते हैं। वह fax server की मदद से ही होता है।
  •  News server : न्यूज़ को एक जगह से दूसरी जगह system मे भेजने के काम news server करता है।
  •  List server : कोई भी नई announcement, advertisement इत्यादि जिस server  के माध्यम से होता है। उसको list server  बोलते हैं।
  •  Chat server : यह सबसे powerful server है। जो कि अच्छा support देता है। आपने भी live chatting कभी ना कभी की होगी। यह सब आप live YouTube मे भी देख सकते हैं।
  •  Print server : print-related सारी कमांड print server से ही की जाती हैं। जब आप कंप्यूटर पर अपने प्रिंट निकलवाते हैं तो print server से ही ऐसा संभव हो पाता है।

 आखिर Server down क्यों होता है?

 Server down का मतलब slow work या server fail होता है। इसकी बड़ी वजह technical issue होता है। जोकि software या hardware मे technical issue आने के कारण से होता है। लेकिन server down को सही करने के लिए online staff हमेशा तैयार रहता है। जो website पर अचानक से high traffic आने की वजह से भी हो जाता है। जिससे server slow हो जाता है।

 YouTube vs website server

 Internet का प्रयोग लोग दो प्रकार से करते हैं। एक तो अपनी  जानकारी के लिए और दूसरा ऐसी जानकारी available कराने के लिए। दोनों के लिए server बहुत जरूरी होता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि YouTube server free  होता है। लेकिन website server  के पैसे देने पड़ते हैं। जैसे website hosting and domain  के company charges लेती है।

आपने यह भी देखा होगा कि YouTube server down बहुत रहता है। ऐसा heavy volume  और high traffic की वजह से होता है।

ये भी पढ़े:-

FAQ

Q : Server का क्या अर्थ है?

Ans : सर्वर हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर का एक संयोग है जिसे क्लाइंट की सेवा के लिए डिज़ाइन किया गया है।

Q : सर्वर डाउन कैसे होता है?

Ans : जब सर्वर खुद से जुड़े अन्य डिवाइसों को सर्विस देना बंद कर देता है या फिर सर्वर काम करना बंद कर देता है तो उसे सर्वर डाउन होना कहते हैं।

आखिरी शब्द

उम्मीद है कि आप को पता चल गया होगा कि सर्वर क्या होता है इसके क्या फायदे हैं क्या नुकसान है एक कितने तरह के होते हैं अगर आपको यह सब जानकारी मिल गई होगी तो जरूर से इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और कोई भी सवाल है सब नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

Naresh Kumar
Naresh Kumarhttps://howgyan.com
इनका नाम नरेश कुमार है और यह इस ब्लॉग के Founder है । वोह एक Professional Blogger हैं जो SEO, Technology, Internet से जुड़ी विषय में रुचि रखते है । इनको 2 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और 4 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहे है। इनके द्वारा लिखा गया कंटेंट आपको कैसा लगा, कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। आप इनसे नीचे दिए सोशल मीडिया हैंडल पर जरूर जुड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here