HomeFull FormRIP Full Form | RIP का Full Form क्या होता है ?

RIP Full Form | RIP का Full Form क्या होता है ?

हुत से लोगो को ये पता नहीं है कि RIP का क्या मतलब होता है और RIP Full Form क्या होती है और इसका इस्तेमाल कहा पर किया जाता है और क्यों किया जाता है तो इस पोस्ट में आपको RIP के बारे में जानकारी मीलेगी की RIP का Full Form क्या होता है और इसका क्या मतलब होता है ।

rip ka full form

RIP Full Form | RIP का Full Form क्या होता है ?

RIP का फुल फॉर्म “REST IN PEACE “होता है और अगर हिंदी में मतलब की बात करे तो ‘शान्ति से आराम करो’ होता है।

R-REST

I-IN

P-PEACE

ईसाई अथवा मुस्लिम मान्यताओं के अनुसार बताया गया है, कि जब कभी “जजमेंट डे” अथवा “क़यामत का दिन” आएगा, उस दिन कब्र में पड़े ये सभी शव दोबारा जीवित हो जायेंगे तब तक उस दिन के इंतज़ार में “शान्ति से आराम करो” ।

RIP का क्या मतलब  है ?

अगर आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते है तो कही ना कही पर अपने RIP शब्द का इस्तेमाल देखा होगा आपको बता दू की जब भी किसी की मृत्यु  हो जाती है और जब उसके बारे में सोशल मीडिया पर शेयर किया जाता है तो लोग RIP शब्द का इस्तेमाल करते है इसका मतलब “शान्ति से आराम करो” होता है।

जब भी किसी मृत्यु व्यक्ति की जानकारी को सोशल मीडिया पर शेयर किया जाता है तो सभी लोग उसके कमेंट सेक्शन में RIP लिखते है पर बहुत से लोगो को RIP का अर्थ पता नहीं होता है उनको सिर्फ इतना पता होता है की इस  शब्द का उपयोग मृत्यु व्यक्ति से संबधित होता है ।

RIP का मतलब होता है शांति हम जब भी इस शब्द का इस्तेमाल करते है मरने वाले की आत्मा को भगवान शांति दे और मरने वाली के परती संवेदना व्यक्त करना होता है और अगर इंग्लिश में बात करे की RIP का मतलब तो इसका मतलब “REST IN PEACE “होता है और इसका मतलब हुआ मरने वाली की आत्मा को शांति मीले ।

बहुत से लोग सिर्फ RIP का इस्तेमाल करते है वो लोग “REST IN PEACE “ नहीं लिखते है आपको बता दू की RIP की Full Form “REST IN PEACE “ होती है इसलिए लोग RIP का इस्तेमाल करते है और इसका अर्थ होता है आत्मा को शांति मिले और RIP एक संवेदनशील शब्द है जिसका उपयोग किसी के मृत्यु पे संवेदना व्यक्त करने और उसकी आत्मा की शांति के लिए कामना करने के लिए किया जाता है ।

RIP एक संस्कृत शब्द है, जिसका इस्तेमाल किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर अपनी संवेदना प्रकट करने के लिए या फिर उसकी आत्मा की शांति के लिए कामना करने के लिए होता है ।

RIP शब्द का इतिहास

rip full form

पाँचवीं शताब्दी से कुछ समय पहले यह वाक्यांश पहली बार कब्रों पर पाया गया था । यह 18 वीं शताब्दी में ईसाइयों की कब्रों पर सर्वव्यापी हो गया, और हाई चर्च एंग्लिकन, मेथोडिस्ट्स, के साथ-साथ विशेष रूप से रोमन कैथोलिकों के लिए, यह एक प्रार्थनापूर्ण अनुरोध था कि उनकी आत्मा को शांति के बाद शांति मिले। जब यह वाक्यांश पारंपरिक हो गया, तो आत्मा के संदर्भ की अनुपस्थिति ने लोगों को यह मान लिया कि यह भौतिक शरीर है जिसे कब्र में शांति से झूठ बोलने के लिए संलग्न किया गया था। यह विशेष निर्णय के ईसाई सिद्धांत के साथ जुड़ा हुआ है; वह यह है कि, मृत्यु के बाद आत्मा को शरीर से अलग कर दिया जाता है, लेकिन यह कि आत्मा और शरीर को फिर से जजमेंट डे पर फिर से मिलाया जाएगा ।

2017 में, उत्तरी आयरलैंड में ऑरेंज ऑर्डर के सदस्यों ने प्रोटेस्टेंट को “RIP” या “रेस्ट इन पेस” का उपयोग बंद करने का आह्वान किया।] इवांजेलिकल प्रोटेस्टेंट सोसाइटी के सचिव वालेस थॉम्पसन ने बीबीसी रेडियो उल्स्टर कार्यक्रम पर कहा कि वह प्रोटेस्टेंट को “आरआईपी” शब्द का उपयोग करने से परहेज करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। थॉम्पसन ने कहा कि वह “RIP” को मृतकों के लिए प्रार्थना के रूप में मानते है, जिसे वह बाइबिल के सिद्धांत के विपरीत मानते है।उसी रेडियो कार्यक्रम में, प्रेस्बिटेरियन केन नेवेल ने इस बात पर असहमति जताई कि लोग वाक्यांश का उपयोग करते हुए मृतकों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं ।

RIP शब्द कहां से लिया गया है

बहुत से लोगो को यह लगता है की RIP एक इंग्लिश शब्द है पर येसा नहीं है RIP एक Latin शब्द है इसे Requiescat in Pace से लिया गया है और यह शब्द मृत व्यक्ति के लिए इस्तेमाल होता है और आपको पता होगा की मुस्लिम और ईसाई धर्म में मृत्यु के पश्चात व्यक्ति को दफनाए जाने की परंपरा है, ईसाई और मुस्लिम धर्म में मनुष्य के मरने के बाद जब उसे दफना दिया जाता है ।

जिस ताबूत में शव को रखा जाता है उसके ऊपर और कई स्थानों पर कब्र के ऊपर Rest In Peace लिखा होता है और ऐसा मृत व्यक्ति के प्रति सहानुभूति और आदर प्रकट करने के लिए भी प्रयोग में लाया जाता है । मुस्लिम और ईसाई धर्म की मान्यताओं के अनुसार यह भी बताया गया है कि जब कभी ‘जजमेंट डे’ या ‘कयामत का दिन’ आएगा, उस दिन कब्र में पड़े ये सभी शव दोबारा जीवित हो जाएंगे ।

Rest in Peace का शॉर्टकट

आज की दुनिया में सही जगह पर शॉर्टकट का इस्तेमाल किया जाता है जैसे की किसी को Good Night लिखना है तो GN लिखके भेज देते है और अगर Good Morning बोलना है तो GM लिख देते है वेसे ही Rest in Peace को शोर्ट में RIP कहा जाता है यह लिखने में आसान होता है और बहुत से लोग Rest in Peace की जगह पर RIP शब्द का इस्तेमाल करते है ।

और आपको बता दू की बहुत से लोगो को RIP का क्या मतलब होता है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं होती है उन लोगो को बस इतना पता होता  है की इस शब्द का उपयोग मृत व्यक्ति के प्रति सहानुभूति और आदर प्रकट करने के लिए जाता है ।

RIP का उपयोग

rip full form

RIP का उपयोग किस लिए किया जाता है और RIP के इस्तेमाल के कुछ उपयोग निचे लिखे हुए है :-

  • RIP का प्रयोग अधिकांश लोग सोशल मीडिया पर करते हैं। यहाँ पर किसी मृतक व्यक्ति की फोटो के लिए नीचे कमेंट करने के लिए किया जाता हैं ।
  • RIP शब्द का उपयोग किसी ब्यक्ति की मृत्यु होने के बाद दुःख को व्यक्त करने के लिए किया जता है।
  • RIP शब्द का अर्थ “भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें” के स्थान पर किया जता है ।
  • अक्सर समाधि के ऊपर के पत्थर (Gravestones) के पास जाकर RIP शब्द जा प्रयोग किया जाता हैं ।
  • RIP शब्द एक प्रकार से श्रद्धांजलियां है, जिसका प्रयोग किसी को गुजरने के बाद किया जता हैं ।
  • RIP अर्थात Rest In Peace शब्द का उपयोग ईशाई धर्म के लोग प्रयोग करते हैं ।

RIP की अन्य Full Form क्या है

  • Rest In Peace
  • Research in Progress
  • Rate Image Processor
  • Regular Investment Plan
  • Request in Process
  • Read in Private
  • Really Inspirational People
  • Requiescat In Pace
  • Rapid Installation Plan/Phase
  • Recovery Is Possible
  • Retirement Income Plan
  • Remote Indicator Panel
  • Rough-In Point
  • Return If Possible
  • Rapid Install Package

ये भी पढ़े :-

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Final Words For RIP

तो दोस्तों आपको RIP Full Form के बारे में जानकारी मिल गयी होगी और साथ में RIP का क्या मतलब होता है और इस शब्द का इस्तेमाल कहा पर किया जाता है,इस संबंध में कोई भी सवाल या सुझाव हो तो हमें कमेंट कर जरुर बताएं,और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आये तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले ।

Naresh Kumarhttps://howgyan.com
नमस्कार दोस्तों, मैं नरेश कुमार HowGyan.com का Founder & Author हूँ,आपको इस वेबसाइट पर मैं SEO,Technology और Education के बारे में अपने इस ब्लॉग पर लिखता हूँ अगर आपको इन सभी के बारे में जानकारी चाहिये तो इस ब्लॉग के पोस्ट को जरुर पढ़े ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here