HomeSEOBlack Hat SEO और White Hat SEO क्या है ?

Black Hat SEO और White Hat SEO क्या है ?

म सब जानते है की वेबसाइट का ट्रैफिक बढाने के लिए SEO कितना जरुरी है,इसके लिए SEO में बहुत सारे फैक्टर को फॉलो करना पड़ता है जिससे वेबसाइट का SEO अच्छा रहता है और वेबसाइट का ट्रैफिक बड जाता है,SEO 2 टाइप के होते है एक White Hat SEO और दूसरा Black Hat SEO,बहुत से लोग Black Hat SEO करना सुरु केर देते है,जोकि गलत है जिससे वजह से आपकी वेबसाइट पर गलत असर पड़ता है वो आपकी वेबसाइट का सर्च ट्रैफिक कम हो जाता है,आपको पता होगा Search Engine Optimization किसी भी Blog के लिए कितना जरुरी है ।

अगर आपवे बसाइट या ब्लॉग चलाते है तो आपको White Hat और Black Hat SEO के बारे में पता होगा,बहुत से नये ब्लॉगर इसमें अंतर नहीं जानते होंगे,जब वे पड़ते है की Backlinks के वजह से वेबसाइट में ट्रैफिक आता है तो वो  Fiverr जैसे वेबसाइट से केवल 5$ से 10$ में Backlinks खरीद लेते है और सोचते है की उनकी वेबसाइट में ट्रैफिक आना सुरु हो जायगा,और फिर बाद मैं पता चलता है की यह सब  स्पैम और Automated websites से आते है जिसका आपकी वेबसाइट पर बुरा असर पड़ता है और ट्रैफिक बड़ने की जगह घटना सुरु हो जाता है और आपकी वेबसाइट का स्पैम स्कोर भी बड जाता है ।

Black Hat SEO

और बाद में Google इन सब वेबसाइट को Penalize कर देता है जिससे आपकी वेबसाइट Google में नहीं आती है जिससे आपका आर्गेनिक ट्रैफिक ख़तम हो जाता है ,बहुत से लोग आपको ये सिखाते है की Backlinks से आपकी वेबसाइट ग्रो करती है पर बहुत सारे फैक्टर होते है वेबसाइट को ग्रो करने के लिए,अगर आप सोचते है की आज वेबसाइट बना ली और कल से ट्रैफिक आना सुरु हो जायगा तो आप गलत है,सफलता का कोई शोर्ट कट नहीं होता है,और आप रातो रात अमीर नहीं बन सकते है,अगर आपको अपनी वेबसाइट को ग्रो करना है तो केवल White Hat SEO का ही इस्तेमाल करना चाहिये ।

आपको बता दू की ज्यादा नये ब्लॉगर Black Hat SEO की तरफ भागते है क्युकी इससे वेबसाइट ग्रो करती है पर यह सब गलत तरीके से होता है,इससे आपकी वेबसाइट को नुक्सान भी होता है,कई बार Google के द्वारा Penalize कर दिया जाता है,इसलिए हमेशा White Hat SEO का इस्तेमाल करना चाहिए,इससे आपकी वेबसाइट भी सिक्योर रहती है और ट्रैफिक भी बढता है ।

Black Hat SEO से हमारी वेबसाइट पर बुरा असर पड़ता है और सर्च इंजन में आपकी वेबसाइट रैंक नहीं कर पाती है,और कई बार आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन में ब्लाक भी कर दिया जाता है जिससे आपको Organic ट्रैफिक नहीं मिल पता है और आपकी वेबसाइट ग्रो नहीं कर पाती है,इसलिए आपको अपने वेबसाइट में White Hat SEO Technique का इस्तेमाल करना चाहिये ।

Black Hat SEO और White Hat SEO के बीच Basic Difference क्या है ?

आपको बता दू की SEO 2 प्रकार की होती है,एक वो जो सर्च इंजन के गाइडलाइन Criteria, Parameters और Recommended trends follow करते हैं। जिन्हें सभी बड़े सर्च इंजन के द्वारा फॉलो किया जाता है ,और जो सर्च इंजन के द्वारा जो गाइडलाइन बनाई जाती है उससे Technics को  White Hat SEO कहा जाता है ।

और लोगो के द्वारा White Hat SEO को कुछ इस तरह इस्तेमाल किया जाता है ,जिससे स्पैम फैलना सुरु हो जाता है और यह कुछ समय बाद Black Hat SEO  बन जाता है ,इससे आप अपने वेबसाइट की रैंकिंग को बड़ा सकते है पर यह सर्च इंजन के रूल्स को फॉलो नहीं करती है ।

कुछ Technics है जो Black Hat SEO में इस्तेमाल में लाया जाता है जैसे की Keyword stuffing, Link farming, Hidden text और Links इत्यादि,इसका इस्तेमाल करने से आपकी वेबसाइट को सर्च इंजन दे हटाया जा सकता है ,और आप दुबरा उससे वेबसाइट को ग्रो नहीं कर सकते है ।

White Hat SEO Techniques

White Hat SEO

वेबसाइट या ब्लॉग की रैंकिंग उपर करने के लिए कुछ Techniques,रूल्स को फॉलो करना पड़ता है,जो भी ब्लॉग की रैंकिंग सही करने के लिए फॉलो की जाती है उससे ही White Hat SEO कहा जाता है ।

Good Quality Content

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग के लिय Quality Content बहुत महत्वपूर्ण  रखता है,अगर आपके लिखे हुए पोस्ट Quality Content का है तो वो सर्च इंजन में रैंक होगा और वहा से आपको Organic ट्रैफिक मीलेगा,साथ में ही कहा जाता है की Content  इस King और आपको हमेशा से ही Quality Content को ही पब्लिश करना चाहिये ।

Website Speed

आपको ऐसी वेबसाइट बनानी चाहिये जो कम टाइम में लोड हो जाये जैसे ही Content जरुरी है वेसे ही वेबसाइट की स्पीड भी जरुरी है अगर वेबसाइट फ़ास्ट लोड होगी तो Google आपकी वेबसाइट को Top में देखायेगा और आपको organic ट्रैफिक में मीलेगा,और अगर आपकी वेबसाइट स्लो है तो आपकी वेबसाइट में बहुत ही कम ट्रैफिक आयगा तो आपको हमेसा ही फ़ास्ट लोडिंग थीम्स का इस्तेमाल करना चाहिये क्युकी फ़ास्ट वेबसाइट का लोड भी SEO में मेटर करता है ।

Follow Search Engine Guidelines

आपको हमेसा से ही Search Engine Guidelines को फॉलो करना है होगा अगर आप फॉलो नहीं करते है तो आप सफल नहीं हो सकते है,अगर आप सर्च इंजन गाइडलाइन्स को फॉलो नहीं करते है तो आपका ब्लॉग कभी रैंक नहीं करेगा और आप कभी सफल नहीं हो पायंगे ।

Title and Meta Description

आपको हमेसा से ही अपनी वेबसाइट के Pages और Title और Meta Description का इस्तेमाल करना बहुत जरुरी है,और कई बार लोग Meta Description गलत डालते है जिससे उनका आर्टिकल्स रैंक करता है मगर आपको येसा नहीं करना है इससे भी आपको प्रॉब्लम हो सकती है,आपको हमेसा से ही सही Title और Meta Description और Keyword का इस्तेमाल करना चाहिये ।

Keyword Density

आपको पोस्ट को लिखते वक्त Keyword density का धयान रखना होता है,क्युकी अगर आप Keyword density का ध्यान नहीं रखंगे तो कब आपकी पोस्ट White Hat SEO से Black Hat SEO में बदल जायगी आपको पता भी नहीं चलेगा आपको सिर्फ आपकी पोस्ट से रिलेटेड Keyword का इस्तेमाल करना चाहिये ।

ये भी पढ़े :-

Black Hat SEO Techniques

White Hat SEO

Black Hat SEO Techniques  कही जाने वाली बहुत ही Techniques  है जिन्हें SEO professionals की और से सपोर्ट नहीं किया जाता है और SEO में इसका इस्तेमाल करना भी गलत होता है और अगर आप नये ब्लॉगर है तो आप Black Hat SEO Techniques से दूर रहे,अगर आप Black Hat SEO का यूज़ करते है तो आपका ब्लॉग रैंक तो करेगा पर हमेसा के लिए नहीं,Black Hat SEO के कुछ Shortcut दिए हुए है आप उससे देख सकते है ।

Keyword Stuffing

अगर कोई यूजर अपनी वेबसाइट में किसी खास Tag को बार बार इस्तेमाल करता है तो उससे Keyword Stuffing कहा जाता है,इसका एक ही मकसद होता है की Articles को रैंक करवाना ,और इससे Viewer को  पड़ने में अच्छा नहीं लगता क्युकी इसमें एक ही Keyword को बहुत सारे जगह में इस्तेमाल किया गया है ।

Low Quality Pages

Low Quality Pages उन पेजेज को कहा जाता है जिसमे  इनफार्मेशन तो नहीं होती है पर बहुत से Keyword का इस्तेमाल किया होता है जिससे पेजेज को रैंक किया जा सके इससे  Keyword Stuffing कहा जाता है ।

Hidden Texts और Links

आपकी ब्लॉग और वेबसाइट पर Text और Links हाईड होते है,यह विसिटर को नज़र नहीं आते है पर सर्च इंजन इससे आसानी से Read केर लेते है,यह तकनीक हैकर द्वारा उपयोग किया जाता है।

Mirror Websites

इस प्रोसेस में एक यूजर बहुत से वेबसाइट बनाता है पर इन सभी वेबसाइट पर कंटेंट एक तरह का होता है ।

Content Scraping

RSS feed द्वारा कंटेंट को अपनी वेबसाइट में Repost करना Content scraping कहलाता है ,गूगल इस तरह की वेबसाइट को पसंद नहीं करता है ।

Conclusion

आपको हमेसा से ही White Hat SEO Techniques का इस्तेमाल करना चाहिये और आपको  Black Hat SEO techniques को avoid करना चाहिये ,तो आपको Black Hat SEO और White Hat SEO के बीच Basic Difference पता चल गया होगा  ।

Naresh Kumarhttps://howgyan.com
नमस्कार दोस्तों, मैं नरेश कुमार HowGyan.com का Founder & Author हूँ,आपको इस वेबसाइट पर मैं SEO,Technology और Education के बारे में अपने इस ब्लॉग पर लिखता हूँ अगर आपको इन सभी के बारे में जानकारी चाहिये तो इस ब्लॉग के पोस्ट को जरुर पढ़े ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Posts