HomeFull FormDM Full Form in Hindi | DM की पूरी जानकारी हिंदी में 

DM Full Form in Hindi | DM की पूरी जानकारी हिंदी में 

क्या आप DM की Full Form खोज रहे है तो आप सही जगह पर आये है आपको इस पोस्ट में DM Full Form और DM की सैलरी सभी के बारे में पता चलेगा,जब भी आप सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करते है तो ख्याल आता होगा की खास हम भी DM के पद पर होते तो कितना अच्छा ,अगर कोई पूछ ले की DM की Full Form क्या होती है तो बहुत से लोग नहीं बता पाते है तो आपको चिंता करने की जरुरत नहीं है इस पोस्ट में आपको DM के बारे में सभी जानकारी मिल जायगी ।

dm full form

DM Full Form हिंदी में

अगर DM की Full Form की बात करे तो District Magistrate  होता है और इसे हिंदी भाषा“जिला मजिस्ट्रेट “ कहा जाता है । एक भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी है, जो भारत में एक जिले के सामान्य प्रशासन के सबसे वरिष्ठ कार्यकारी मजिस्ट्रेट और प्रमुख हैं ।

D = District

M = Magistrate

DM कौन होता हैं

DM पूरे ज़िले का मुख्य कार्यकारी अधिकारी और प्रशासनिक और राजस्व अधिकारी भी होता है,एक भारतीय प्रशासनिक सेवा यानी Indian Administrative Service (IAS) अधिकारी भी कहा जाता है, जो भारत में एक जिले के सामान्य प्रशासन के रूप में सबसे वरिष्ठ कार्यकारी DM के रुप मे नियुक्ति होता हैं,और बहुत से जिलो में DM को DC भी कहा जाता है,DM पुरे जिला में सेवा प्रदान करता है और सुरक्षा ब्वास्था का भी जिम्मेदारी रखता है जिसे की जिला का मुखिया भी कहा जाता है ।

District Magistrate को District Collector भी कहते है, तथा इन्हें जिला न्यायाधीश भी कहा जाता है. प्रत्येक जिले में एक न्यायालय होता है. न्यायालय में जो न्यायाधीश होते है उन्हें जिला न्यायाधीश कहते है ।

District Magistrate का प्रमुख कार्य अपने ज़िले में कानून व्यवस्था को बनाये रखना है जो की प्रत्येक जिले में एक जिला मजिस्ट्रेट होता है जो कि अपने निचले स्तर पर कार्य कर रहे सभी कर्मचारियों पर भी अपना अधिकार रखता और अगर वो लोग अपना काम सही से नहीं करते है तो उन्हें सुस्पेंड भी कर सकता है ।

DM बनने के लिए योग्यता

dm full form

आपको District Magistrate बनने के लिए  अभ्यर्थी को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन  में सफलता प्राप्त करना अनिवार्य होता है,आपको UPSC के द्वारा कराए जाने वाला CSE की परीक्षा में आपको पास करना होगा,तभी आप IAS ऑफिसर बनने की तरफ अपना पहेला कदम बढ़ाते है इसके अलावा DM बनने के लिए आपकी पढ़ाई और आपकी उमर भी मायने करती है ।

जब आप आईएस ऑफिसर बन जायंगे उसके बाद जब आपका प्रमोशन होगा तभी आप DM बन पायंगे और किसी जिले में जा कर सेवा कर पायंगे ।

DM बनने के लिए आयु सीमा

जिला मजिस्ट्रेट(District Magistrate) बनने के लिये हर वर्ग के लिये अलग-अलग आयु सीमा रखी गयी है –

  • अगर आप जनरल वर्ग में आते है तो इसके लिए उमर 21 वर्ष से 30 वर्ष के बिच में होनी चाहिये ।
  • अगर आप OBC वर्ग  में आते है तो इसमें 3 साल की छुट दी गयी है और यह उमर 21 वर्ष से 33 वर्ष में होनी चाहिये ।
  • अगर कोई SC/ST वर्ग  का है तो उसे 5 साल की छुट दी गये है जिससे उमर 21 वर्ष से 35 वर्ष में होती चाहिये ।

DM बनने की चयन प्रक्रिया

dm full form

DM बनने की लिए उम्मीदवार को UPSC द्वारा आयोजित CSE (सिविल सर्विसेज एग्जाम ) परीक्षा में भाग लेना होता है जिसे पास करने के बाद आप एक IAS अधिकारी बन जाते है ,और जब IAS अधिकारी का प्रमोशन होता है तो उसेन= DM जिला मजिस्ट्रेट(District Magistrate) बना दिया जाता है ।

IAS अधिकारी बनने के लिए परीक्षा तीन चरणों के माध्यम से कराई जाती है जो इस प्रकार से है :-

  • प्रारम्भिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

ये भी पढ़े :-

1.प्रारम्भिक परीक्षा ( Preliminary Exam)

DM बनने के लिए आपको UPSC की परीक्षा पास करना होगा,इसमें आपको CSE की परीक्षा देनी होगी जो दो चरणों में एग्जाम होते है इसमें पहेले एग्जाम में 100 सवाल पूछे जाते है जो की 200 नंबर के होते है और दुसरे परीक्षा में 80 सवाल पूछे जाते है जो की 200 नंबर का होते है और अगर आप प्रारम्भिक परीक्षा पास कर लेते है तो आपको मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है ।

2.मुख्य परीक्षा (Main Exam)

जो भी अभियार्थी  प्रारम्भिक परीक्षा पास कर लेता है सिर्फ वही मुख्य परीक्षा में भाग ले सकता है,मुख्य परीक्षा में आपको 9 पेपर्स देने होते है जो की लगभग 1750 मार्क्स के होते है लेकिन आपकी मेरिट लिस्ट सिर्फ सात पेपर के आधार पर बनाई जाती है और बाकि के दो पेपर में बस पास होना जरुरी है और अगर आप मुख्य परीक्षा को पास केर लेते है उसके बाद ही साक्षात्कार के लिए जा सकते है ।

3.साक्षात्कार (Interview)

साक्षात्कार में सिर्फ वही अभियार्थी जा सकते है जिसने मुख्य परीक्षा पास की हो इसके बाद ही IAS अधिकारी बन जाते है और इस साक्षात्कार में आपसे अलग अलग तरह के सवाल पूछे जाते है और अगर अपने सही जवाब दिया है तो आपको IAS अधिकारी बना दिया जाता है और कुछ प्रमोशन के बाद आपको DM बना दिया जाता है ।

DM के क्या कार्य है

dm full form
  • अपने जिले में उपस्थित सभी पुलिस स्टेशन पर नजर बनाए रखना और निर्देशित करना ।
  • साथ में कार्य करने वाले मजिस्ट्रेटों का निरीक्षण करना होता है ।
  • प्रत्येक वर्ष सरकार को अपने ज़िले की अपराध की स्थिति की रिपोर्ट देना होता है ।
  • DM  मुख्य रूप से कानून व्यवस्था को बनाये रखने का काम करता है ।
  • जब मंडल आयुक्त उपस्थित नहीं होते है, तो जिला विकास प्राधिकरण के पद पर अध्यक्ष के रूप में कार्य करते है ।
  • DM  का कार्य सभी जेलों का निरीक्षण करना भी होता है ।
  • सभी कार्यों की मंडल आयुक्त को जानकारी देना होता है ।

DM का वेतन

अगर DM की सैलरी की बात की जाये तो इनका  रैंक IAS Officer का होता है तो सैलरी भी IAS Officer वाली दी जाती है और DM की सैलरी के स्केल का अंतर होता है ।

जिससे उनकी सैलरी काफी ज्यादा हो जाती है और अगर DM की मंथली सैलरी की बात की जाये तो 50 हजार से लेकर 1.5 लाख के बिच में होती है या इससे ज्यादा भी हो सकती है ।

इसके अलावा भी सरकार द्वारा बहुत से सुविधा दी जाती है जिससे उन्हें  घर,सरकारी गाड़ी,24 घंटे सुरक्षा और नोकर दिए जाते है और अगर उनका प्रमोशन होता है तो उन्हें बड़ा घर और भी बहुत से सुविधाएं दी जाती है ।

DM के अन्य Full Form हिंदी में

  • District Magistrate
  • Drink Maker
  • Discrete Mathematics
  • Direct Modulation
  • Document Management
  • Digital Marketing
  • Dual Mode
  • Disease Management
  • Docking Module
  • Disease Management
  • Digital Media
  • Display Message
  • Digital Media
  • Diabetes Mellitus
  • Discussion Meeting
  • Direct Message
  • Decision Maker
  • Direct Marketing
  • Direct Mail
  • Device Manager
  • Diamond Mine
  • Development Manager

DM की तैयारी कैसे करे

डीएम की तयारी करने के लिए आपको अपना GK का ज्ञान बढाना चाहिये और आपको बहुत सारी किताबे पड़नी होगी और आपको रोजाना न्यूज़ पेपर भी पड़ना चाहिये ।

आपको DM की तयारी करने के लिए कानून का ज्ञान होना भी बहुत जरुरी है इस लिए आपको Law की किताबे भी पड़नी चाहिये ।

Frequently Asked Questions

Conclusion

  दोस्तों मुझे  उम्मीद है इस पोस्ट के द्वारा आपको अपना जबाब मिल गया होगा और आपको पता चल गया होगा की DM की Full Form क्या है और DM कैसे बने इसके बारे में सब कुछ पता चल गया होगा,अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर करे ।

Naresh Kumarhttps://howgyan.com
नमस्कार दोस्तों, मैं नरेश कुमार HowGyan.com का Founder & Author हूँ,आपको इस वेबसाइट पर मैं SEO,Technology और Education के बारे में अपने इस ब्लॉग पर लिखता हूँ अगर आपको इन सभी के बारे में जानकारी चाहिये तो इस ब्लॉग के पोस्ट को जरुर पढ़े ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here